[Aadhar 16 Digit Virtual ID]आधार वर्चुअल आईडी क्या है और कैसे बनाते हैं?

137

Aadhar 16 Digit Virtual IDआधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) का उपयोग आधार वेरिफिकेशन के लिए क्या जाता है। यह एक 16 अंकों का अस्थाई कोड होता है। आप आधार से संबंधित सेवाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए वेरिफिकेशन हेतु संबंधित एजेंसी को आधार नंबर की बजाय 16 अंकों का यूआइडीएआइ वर्चुअल आईडी कोड प्रदान कर सकते हैं।  सुरक्षा की दृष्टि से भी UIDAI Aadhar 16 Digit Virtual ID उपयोगी है। इस आईडी के प्रयोग से कोई दूसरा व्यक्ति आप की आधार की जानकारी प्राप्त नहीं कर सकता है।  

प्राइवेट और सरकारी दोनों संगठनों में e-KYC पूरा करने के लिए आधार वर्चुअल आईडी का प्रयोग किया जा सकता है। ई आधार कार्ड को यूआईडीएआई के ऑफलाइन पोर्टल से डाउनलोड करने के लिए भी Aadhar 16 Digit Virtual ID का प्रयोग किया जा सकता है। 

आधार कार्ड वर्चुअल आईडी/Aadhar Virtual ID Means

आधार वर्चुअल आईडी एक 16 अंकों की अस्थायी, प्रतिसंहरणीय यादृच्छिक संख्या है जिसे आधार कार्ड के साथ मैपिंग किया गया है। Aadhar 16 Digit Virtual ID का प्रयोग प्रमाणीकरण अथवा ईकेवाईसी सेवाओं के लिए आधार कार्ड के स्थान पर किया जा सकता है। जिस प्रकार आधार नंबर की मदद से प्रमाणीकरण तथा ईकेवाईसी सेवाओं का लाभ प्राप्त किया जाता है बिल्कुल उसी तरह आधार वर्चुअल आईडी का प्रयोग कर प्रमाणीकरण किया जा सकता है। लेकिन ध्यान रहे Aadhar Virtual ID के माध्यम से आधार नंबर प्राप्त करना संभव नहीं है। 

Aadhar 16 Digit Virtual ID क्या होती है? |What is Aadhar Virtual ID?

आधार वर्चुअल आईडी एक 16 अंकों का स्थाई कोड होता है, जो आधार नंबर की विकल्प के तौर पर उपयोग किया जा सकता है। प्रत्येक आधार नंबर के साथ एक बार में केवल एक अस्थाई Aadhar 16 Digit Virtual ID जनरेट होती है। ध्यान रहे किसी भी परिस्थिति में आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) का उपयोग मूल आधार कार्ड को दोबारा प्राप्त करने के लिए नहीं किया जा सकता है। उपयोगकर्ता के लिए एक बार में एक आधार नंबर के लिए केवल एक ही Aadhar Virtual ID  बन सकती है। आधार कार्ड धारक द्वारा आधार वर्चुअल आईडी कॉम जितनी बार चाहे बनाया जा सकता है। आधार वर्चुअल आईडी केवल 24 घंटे के लिए मान्य होती है। 

यह भी पढ़ें:-वर्चुअल आईडी की मदद से ई आधार कार्ड डाउनलोड करें।

आधार वर्चुअल आईडी ऑनलाइन कैसे बनाएं? |How to get Aadhaar Virtual ID?

यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने Aadhar 16 Digit Virtual ID जनरेट करने के लिए ऑनलाइन सुविधा प्रदान की है। कोई भी व्यक्ति यूआईडीएआई की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट कर आधार वर्चुअल आईडी (Aadhaar Virtual ID) को तैयार किया जा सकता है। अर्थात इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से आधार वर्चुअल आईडी को जनरेट किया जा सकता है।

यूआईडीएआई की इस सेवा का लाभ उठाने के लिए आपके पास आधार से लिंक रजिस्टर्ड मोबाइल होना आवश्यक है, क्योंकि जब आप Aadhar 16 Digit Virtual ID Generate करते हैं तो आपकी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ही यह आईडी प्राप्त होती है। वर्तमान में वर्चुअल आईडी को जनरेट करने की सुविधा mAadhaar app पर नहीं है लेकिन निकट भविष्य में यह सेवा एम आधार एप्लीकेशन पर भी उपलब्ध होगी।  

अगर आप आधार सेवाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए Aadhar 16 Digit Virtual ID UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट से उत्पन्न करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

स्टेप 1: सर्वप्रथम यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट http://uidai.gov.in/ पर जाएँ। 

स्टेप 2: ध्यान रहे अगर आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक नहीं है, तो सबसे पहले अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करें।

स्टेज 3: यूआइडीएआइ पोर्टल के होम पेज पर नेवीगेशन मेनू में “My Aadhar” का विकल्प दिखाई देगा। My Aadhar” विकल्प पर क्लिक करें, एक नया सब सेक्शन खुल जाएंगा। 

स्टेप 4: “Aadhaar Services” का विकल्प दिखाई देगा।  “Aadhaar Services” के सब मेनू के अंतर्गत “Virtual ID Generator” का लिंक दिखाई देगा। इस लिंक पर क्लिक करें। 

स्टेप 5: इस लिंक पर क्लिक करते ही आपको एक नए Aadhaar card VID Generator पेज पर रीडायरेक्ट कर दिया जाएगा। 

स्टेप 6: नए पेज पर दिए गए निर्धारित स्थान पर अपना 12 अंको का आधार नंबर दर्ज करें और सिक्योरिटी कोड के तौर पर दिए गए कैप्चा को भरें।

स्टेप 7: इसके बाद “Send OTP” बटन पर क्लिक करें। अगर आप वेरीफिकेशन प्रोसेस टेंपरेरी वन टाइम पासवर्ड की मदद से करना चाहते हैं, तो “Enter TOTP” बटन पर क्लिक करें।

स्टेप 8: अगर आपने “Send OTP” के बटन का उपयोग किया है तो UIDAI द्वारा आधार से लिंक आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP भेजा जाएगा।

स्टेप 9: यूआईडीएआई से प्राप्त OTP को दिए गए निर्धारित स्थान पर दर्ज करें और “Generate Virtual ID” और “Retrieve Virtual ID” में से किसी एक विकल्प का चुनाव करें। 

स्टेप 10: इसके बाद “Submit”  बटन पर क्लिक करें। “Submit” के बटन पर क्लिक करते ही आपकी स्क्रीन पर एक मैसेज प्राप्त होगा कि “Congratulations!  आपका Aadhar 16 Digit Virtual ID Number सफलतापूर्वक जनरेट हो गया है जिसे आप के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेज दिया गया है और आपके रजिस्टर्ड मोबाइल पर भेज दिया गया है।”

स्टेप 11: यूआईडीएआई द्वारा आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर, आधार के अंतिम 4 अंकों का उल्लेख करते हुए , 03-10-2021:11:31:02 पर उत्पन्न किए गए आधार नंबर के लिए 16 अंको की वर्चुअल आईडी का मैसेज प्राप्त होगा।

इस प्रकार कोई भी सामान्य व्यक्ति यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट का उपयोग करते हुए ऊपर दिए गए स्टेप्स का पालन करते हुए Aadhar 16 Digit Virtual ID को जनरेट कर सकता है। आप उपरोक्त विधि का उपयोग कर अन्य आधार नंबर के साथ-साथ अपने परिवार के अन्य सदस्यों की आधार कार्ड वर्चुअल आईडी (Aadhaar card VID) भी उत्पन्न कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:-शादी के बाद आधार कार्ड अपडेट कैसे करें?

Aadhar 16 Digit Virtual ID की आवश्यकता क्यों होती है? 

पिछले कुछ वर्षों में मीडिया रिपोर्टों में ऐसी जानकारी सामने आई है कि कुछ लोगों की आधार जानकारी लीक हो गई है। इस प्रकार की कथित खबरों से लोग परेशान हैं और वे अपने आधार कार्ड से संबंधित जानकारियों को सुरक्षित रखने के बारे में परेशान है। यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया में भारतीय नागरिकों की इसी समस्या/परेशानी को दूर करते हुए आधार कार्ड वर्चुअल आईडी की कंसेप्ट को शुरू किया है। 

आधार कार्ड धारक अपने आधार नंबर के लिए आधार कार्ड वर्चुअल आईडी यूआईडीएआई की आधिकारिक वेबसाइट से जनरेट कर सकता है। आधार कार्ड वर्चुअल आईडी एक अस्थाई 16 अंकों का कोड होता है, जो 24 घंटे के लिए ही मान्य होता है। जब आप प्रमाणीकरण अथवा ईकेवाईसी के लिए किसी एजेंसी को अपने आधार कार्ड वर्चुअल आईडी देते हैं, तो संबंधित एजेंसी द्वारा आप के आधार कार्ड का नंबर प्राप्त नहीं कर सकती है। आधार कार्ड वर्चुअल आईडी के माध्यम से संबंधित एजेंसी केवल आधार का वेरिफिकेशन कर सकती है।

इस प्रकार, आधार नंबर और आधार से संबंधित अन्य जानकारी को किसी भी तरह से एजेंसी प्राप्त नहीं कर सकती हैं जिससे आधार नंबर तथा आधार से संबंधित अन्य जानकारियां सुरक्षित रहती हैं।  

अगर आपके पास आधार कार्ड है और आप यूआईडीएआई की आधिकारिक वेबसाइट से ऑनलाइन Aadhar 16 Digit Virtual ID (Aadhaar Virtual ID) बनाने में सक्षम है, तो किसी भी सेवा के प्रमाणीकरण के लिए वर्चुअल आईडी का उपयोग कर सकते हैं। प्रमाणीकरण प्रक्रिया संपन्न हो जाने के उपरांत आवेदक द्वारा फिर से नई वर्चुअल आईडी बनाई जा सकती है ताकि एजेंसी के पास मौजूद Aadhar 16 Digit Virtual ID से भी किसी भी प्रकार का डाटा प्राप्त ना कर सके।

ये भी पढ़ें: आधार कार्ड से मोबाइल नंबर कैसे लिंक करें?

Aadhar 16 Digit Virtual ID की विशेषताएँ क्या है?

यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अपने सिस्टम में काफी बदलाव किए हैं जिनमें से Aadhar 16 Digit Virtual ID एक है। आधार कार्ड वर्चुअल आईडी की निम्नलिखित विशेषताएं हैं :

  • वर्चुअल आईडी एक 16 अंकों का स्थाई कोड होता है जो वेरिफिकेशन के लिए आधार नंबर की जगह इस्तेमाल किया जाता है।
  • एक आधार कार्ड पर एक बार में केवल एक ही वर्चुअल आईडी से देखी जा सकती है।
  • एक बार जनरेट की गई वर्चुअल आईडी केवल 1 दिन के लिए माने रहती है।
  • जब आप आधार कार्ड के लिए वर्चुअल आईडी जेनरेट करते हैं तो नई आधार कार्ड वर्चुअल आईडी जेनरेट होते ही सिस्टम द्वारा पुरानी वर्चुअल आईडी को हटा दिया जाता है।
  • Aadhar 16 Digit Virtual ID की मदद से आधार नंबर प्राप्त करना असंभव है।
  • उपयोगकर्ता द्वारा वर्चुअल आईडी को कितनी भी बार जनरेट किया जा सकता है।
  • वर्चुअल आईडी जेनरेट करना अनिवार्य नहीं है। वर्चुअल आईडी को सुरक्षा की दृष्टि से आधार नंबर के स्थान पर प्रयोग किया जाता है।
  • विभिन्न एजेंसियाँ आवेदकों को e-KYC या वैरिफिकेशन के लिए आधार नंबर उपलब्ध कराने के लिए बाध्य नहीं कर सकती हैं।
  • एजेंसियों को वर्चुअल आईडी का उपयोग करके वेरिफिकेशन करने से पहले उपयोगकर्ता से इसकी सहमति लेना आवश्यक है।
  • कोई भी एजेंसी वेरिफिकेशन के लिए इस्तेमाल की गई वर्चुअल आईडी या आधार से संबंधित अन्य जानकारी को अपने पास रखने के लिए अधिकृत नहीं है। वर्चुअल आईडी का प्रयोग केवल प्रमाणीकरण तक ही सीमित है।
  • एक आधार कार्ड वर्चुअल आईडी तब तक वैध है, जब तक उपयोगकर्ता एक नई आईडी जनरेट  नहीं करता है।
  • जब भी आप ऑनलाइन माध्यम से अपना आधार कार्ड फिर से प्राप्त करते हैं तो यूआईडीएआई द्वारा अंतिम जनरेट Aadhar 16 Digit Virtual ID को आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है।

यह भी पढ़ें:-आधार कार्ड में फोटो कैसे बदलें?

आधार कार्ड वर्चुअल आईडी से संबंधित FAQs

प्रश्न.1: अगर किसी के पास आधार कार्ड नहीं है, तो क्या वह वर्चुअल आईडी प्राप्त कर सकता है?

उत्तर: यूआईडीएआई द्वारा वर्चुअल आईडी आधार नंबर पर जनरेट की जाती है। अतः अगर आपके पास आधार कार्ड नहीं है, तो आप आधार कार्ड वर्चुअल आईडी जेनरेट नहीं कर सकते हैं। आधार कार्ड वर्चुअल आईडी प्राप्त करने के लिए आपको सबसे पहले आधार कार्ड के लिए आवेदन करना होगा और आधार कार्ड नंबर जनरेट होने के उपरांत आप अपनी वर्चुअल आईडी बना सकते हैं। 

प्रश्न.2: क्या आधार एनरोलमेंट आईडी की मदद से वर्चुअल आईडी को जनरेट किया जा सकता है?

उत्तर: यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अभी तक केवल और केवल आधार नंबर की मदद से ही वर्चुअल आईडी जेनरेट करने की सुविधा प्रदान की है। अतः आधार एनरोलमेंट आईडी से आप Aadhar 16 Digit Virtual ID जेनरेट नहीं कर सकते हैं।

प्रश्न. 3: मेरा मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक नहीं है, तो क्या मैं आधार कार्ड वर्चुअल आईडी जेनरेट कर सकता हूं? 

उत्तर: नहीं, आधार कार्ड से संबंधित सभी ऑनलाइन सेवाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड से आपका मोबाइल नंबर लिंक होना आवश्यक है। अगर आपका मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक नहीं है, तो आप आधार कार्ड वर्चुअल आईडी जेनरेट नहीं कर सकते हैं। क्योंकि Virtual Aadhar Card ID Generate होने के उपरांत रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ही भेजी जाती है। आधार कार्ड वर्चुअल आईडी जेनरेट करने के लिए सबसे पहले ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन माध्यम से अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करें उसके उपरांत वर्चुअल आईडी जनरेट करें।

यह भी अवश्य पढ़ें: ई आधार कार्ड को ऑनलाइन डाउनलोड कैसे करें?

Previous articleशादी के बाद आधार कार्ड में नाम कैसे अपडेट करें?|Aadhar Update After Marriage
Next articleआधार कार्ड बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज कौन-कौन से हैं?| Aadhar Card Banane Ke Liye Document
I am a part-time blogger, Hindi Abhimaan is a platform where people are informed about various schemes launched by the Government of India and various state governments as well as various services being run to make the benefits of these schemes accessible to the general public so that People can have easy access to these services.