Pradhan Mantri Ujala Yojana(EESL): Unnat Jyoti by Affordable LEDs for All

Pradhan Mantri Ujala Yojana (EESL) | Ujala Scheme l PM Ujala Yojana | Ujala Yojana | Unnat Jyoti by affordable leds for all | EESL Ujala Scheme

4 December 2021 by Guru R P 

Pradhan Mantri Ujala Yojana (EESL): – प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 5 जनवरी 2015 को घरेलू बिजली उपभोक्ताओं के लिए Pradhan Mantri Ujala Yojana की शुरुआत की थी। जहाँ Ujala Ka Full Form – Unnat Jyoti by Affordable LEDs for All होता है। इस योजना के पीछे भारत सरकार का मुख्य उद्देश्य देशभर में इस्तेमाल की जाने वाली  770 million incandescent bulbs  को मार्च 2019 तक LED से बदलना  था।  यह योजना bachat lamp Yojana  का स्थान लेगी। 

इस योजना की शुरुआत साउथ ब्लॉक दिल्ली से एक औरत को एलईडी के रूप में बदल कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी।  प्रधानमंत्री ने एलईडी बल्ब को Prakash Path” – “way to ligh  के रूप में परिभाषित किया  था। सरकार ने इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए  सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी Energy Efficiency Services Limited (EESL)  को ज़िम्मेदारी दी है। यह कंपनी भारत सरकार के Ministry of Power के अधीन काम करती है। इस कंपनी के द्वारा ग्रामीण वे शहरी बिजली उपभोक्ताओं को किफायती दर  $0.154/- each पर एलइडी बल्ब प्रदान किए जा रहे हैं। 

Pradhan-Mantri-Ujala-Yojana-प्रधानमंत्री-उजाला-योजना

अगर किसी उपभोक्ता के पास एलईडी बल्ब के पैसे नहीं है, तो बिजली बिल के माध्यम से इंस्टॉलमेंट के रूप में भी पेमेंट कर सकता है। भारत सरकार इस योजना के माध्यम से ऊर्जा के अनावश्यक रूप से  हो रहे प्रयोग को कम करना है। देश के अधिकांश ग्रामीण इलाकों में  highly inefficient incandescent bulbs औरCFLs का प्रयोग किया जाता है, जिसमें अनावश्यक रूप से ऊर्जा की खपत होती है।  LED अधिक रोशनी देती है और incandescent bulbs की तुलना में 88%  कम बिजली की खपत करती है।  एलईडी CFLs  की तुलना में 50% कम बिजली की खपत करती हैं।  

“I was not aware of the monetary benefits associated with the LED bulb till the awareness camp. After using the LED bulb for two months, I have saved 30% on my electricity bill.” 

                                                                Ram Prakash Mishra, Kalika GP, Balasore, Odisha

इस योजना के अंतर्गत प्रारंभ में 100 शहरों को शामिल किया  गया है। लाइटनिंग मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन ELCOMA  के आंकड़ों के अनुसार  सन 2013-14  में देश में करीब 770 मिलियन incandescent bulbs  की बिक्री हुई थी ।  सरकार का लक्ष्य है कि इन सभी incandescent bulbs  को मार्च 2019 तक LEDs से बदला जाए। 

सरकार का मानना है कि इस योजना के सफल होने पर देश में कुल बिजली खपत लोड में 20000 मेगा वाट  की कमी आएगी, जिससे देश में प्रतिवर्ष 100 मिलियन किलो वाट बिजली की बचत होगी। जिससे बिजली पर होने खर्च में USD 6.16. मिलियन की कमी आएगी। इस योजना में EESL द्वारा की जाने वाली कुल खर्च राशि $1.08 (including GST)  है, जो 1 वर्ष में बिजली खपत में होने वाले कमी से भी कम है। LEDsकी लाइफ 10 से 15 साल है, जिससे 1 साल के बाद होने वाली बचत उपभोक्ता  को ही लाभ प्रदान करेगी। 

Jammu Kashmir SEHAT Insurance Scheme

Key Highlights/Overview of Scheme

Name of  scheme Pradhan  Mantri  Ujala  Yojana`
Complete name of the scheme Unnat Jyoti by Affordable LEDs for all
Launched by   Shri Narendra Modi,  Prime Minister of India
Launched  date 1st May 2015
Purpose of scheme To replace 770 million incandescent bulbs With LED
Ministry Ministry of Power
Implementing agency Energy Efficiency Services Limited (EESL), a government company under the administrative control of Ministry of Power, Government of India
Key Man of Scheme Raj Kumar Singh
Official Website www.ujala.gov.in 
Complaint Portal  http://support.eeslindia.org/ 
Official E-Mail Id  [email protected]
Facebook ID  @EESL India
Twitter Handle  @EESL_India

 

Objectives of the Ujala Scheme

भारत सरकार द्वारा Pradhan Mantir Ujala Yojana की शुरुआत बिजली बचत के लिए की गई है, जिसके लिए एलईडी(LED) से जुड़े उत्पादों को भारत सरकार प्रमोट कर रही है। उजाला स्कीम के निम्नलिखित उद्देश्य है :- 

  • अनावश्यक रूप से हो रहे बिजली खर्च को कम करना जिससे DISCOMs  Peak Hours में बिजली की आपूर्ति में मदद हो सके। 
  • घरेलू उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर उत्तम टेक्नोलॉजी  से निर्मित बिजली उत्पादों को खरीदने को बढ़ावा देना, जिससे उपभोक्ता के बिजली बिल में कमी की जा सके।
  • उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर अच्छे बिजली उपकरण खरीदने व उनके उत्तम उपयोग के लिए जागरूक करना।
  •  एलईडी लाइट के प्रयोग से घरेलू मार्केट में एलईडी उत्पाद की मांग को बढ़ाना, जिससे डोमेस्टिक लाइट इंडस्ट्री को बढ़ावा दिया जा सके।
  • एलईडी बनाने वाली डोमेस्टिक कंपनियों को मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत प्रोत्साहन व मदद करना।
  •  एक सस्टेनेबल मॉडल प्रदान करना, जिससे बिजली उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर एलईडी खरीदने में होने वाले खर्च 1 वर्ष में बिजली बिलों पर होने वाली बचत से कम हो सके। 
  • ऐसा मॉडल तैयार करना जिससे ना केवल उपभोक्ताओं की बिजली बिल में कमी आए बल्कि उपभोक्ताओं मैं ऐसी समझ पैदा करना जिससे व ऊर्जा बचत में सहयोग करने वाले उपकरणों fans, refrigerators, ACs आदि की खरीद को प्राथमिकता दे सकें। 
  • सरल और पारदर्शी तरीके से ऊर्जा की बचत करने के लिए बेहतर तंत्र स्थापित करना।
  • घरेलू विद्युत क्षेत्र में निजी कंपनियों को भागीदारी के लिए बढ़ावा देना।
  • ऊर्जा बचत की अवधारणा को पूरे देश भर में फैलाना।
  •  उपभोक्ताओं को ऊर्जा बचत करने वाले उपकरण खरीदने के लिए प्रोत्साहित करना। 

Ayushman Bharat Golden Card

Implementation of PM Ujala Scheme 

भारत सरकार ने PM Ujala Scheme के क्रियान्वयन  की जिम्मेदारी सारण क्षेत्र की कंपनी Energy Efficiency Services Limited (EESL) को प्रदान की है। इस योजना के क्रियान्वयन के लिए National Ujala Dashboard (www.ujala.gov.in)   नाम से एक वेब पोर्टल की स्थापना की गई है। यह  वेब पोर्टल भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के अंतर्गत काम करता है। योजना से संबंधित समस्त जानकारियाँ इस वेब पोर्टल पर उपलब्ध है। अगर किसी घरेलू उपभोक्ता को इस योजना के अंतर्गत प्राप्त उत्पादों   से संबंधित किसी प्रकार की शिकायत है, तो वह इस पोर्टल के माध्यम से अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज करवा सकता है। Nation Ujala Dashboard के माध्यम देशभर में राज्यवार वितरित किए गए पंखे वह एलइडी  वितरण का ब्यौरा दिया हुआ है।

Pradhan Mantri Ujala Yojana के अंतर्गत 2 जनवरी 2021 तक पूरे देश में 2340280 पंखों का वितरण किया जा चुका है,जिससे ₹73,99,96,576 लागत की 21,76,46,040 kWh बिजली की बचत प्रतिवर्ष की जा रही है।  योजना के अंतर्गत अब तक 7207438 ट्यूबलाइट वितरित की जा चुकी है, जिनकी मदद से ₹1,07,33,31,767 लागत की 31,76,56,85,784 kWh बिजली की बचत प्रतिवर्ष की जा रही है।  उजाला योजना के अंतर्गत अब तक 36,69,32,457 LED Bulbs वितरित किए जा चुके हैं, जिनकी मदद से ₹19061करोड़ लागत की 47,652 मिलियन kWh बिजली की बचत प्रतिवर्ष की जा रही है।  

 Pradhan Mantri Ujala Yojana  Related Statics Dated 02/01/2021

Items Distributions  Energy Saved per Day kWh Cost Saving Per Day (INR) Avoid Peak Demand (MW)  CO2 Reduction per day (ton CO2)
Fans 23,40,280 21,76,46,040 73,99,96,536 59 1,78,470
Tubelight 72,07,438 31,56,85,784 1,07,33,31,767 144 2,58,862
LED Bulbs 36,69,32,457 47,652MN 19061 Crore 9540 3,85,98,460

 

PM Ujala Yojana के राज्यवार क्रियान्वयन की स्थिति को  देखने के  लिए UJALA- Statewise Implementation लिंक पर क्लिक करें।

Eligibility of PM Ujala Yojana

Pradhan Mantri Ujala Yojana के लिए हर वह व्यक्ति पात्र है जिसने बिजली वितरण कंपनी से बिजली मीटर का कनेक्शन ले रखा है। अगर उपभोक्ता तुरंत भुगतान कर प्रधानमंत्री  उजाला योजना के माध्यम से एलईडी बल्ब प्राप्त करना चाहता है तो उसे सरकार द्वारा ऑथराइज्ड आईडी प्रूफ जैसे आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र या पासपोर्ट में से किसी एक को पेश करना होगा। अगर घरेलू उपभोक्ता एलईडी बल्ब EMI  पर लेना चाहता है तो उसे बिजली बिल की  कॉपी एडिशनल डाक्यूमेंट्स के रूप में पेश करनी होगी।

CSC Ayushman Bharat Yojana List

Price & Distribution 

Pradhan Mantri Ujala Yojana के अंतर्गत 9 वाट के UJALA LED bulbs वितरित किए जाएंगे जिनका मूल्य ₹75 से ₹95 के बीच होगा जो विभिन्न राज्य द्वारा लगाए जाने वाले टैक्स  की दर के आधार पर कम या अधिक हो सकता है। उपभोक्ता योजना के अंतर्गत प्राप्त किए जाने वाले एलईडी बल्ब के लिए एकमुश्त भी भुगतान कर सकता है और वह चाहे तो Montly instalment में भी भुगतान कर सकता है। बिजली वितरण कंपनी द्वारा उपभोक्ता की बिल राशि में एलईडी की cost को जोड़ दिया जाएगा।  

Ujala(Unnat Jyoti by Affordable LEDs for All) Yojanaके अंतर्गत दिए जाने वाले एलईडी बल्ब, Tubelights & Fan का डिस्ट्रीब्यूशन DISCOM offices, Electricity bill cash counters, designated EESL kiosks, and weekly ‘haat’ markets, आदि स्थानों से किया जा रहा है।अगर कोई नागरिक  अपने नजदीकी उपरोक्त वितरण केंद्रों की जानकारी चाहता है, तो वह National Ujala Dashboard ( www.ujala.gov.in) से जानकारी प्राप्त कर सकता है। इस योजना के अंतर्गत एक बिजली कनेक्शन पर एक उपभोक्ता न्यूनतम दो  एलईडी बल्ब और अधिकतम 10 एलईडी बल्ब प्राप्त कर सकता है। दिल्ली में इस प्रकार की कोई लिमिट नहीं है।

Pradhan Mantri Ujala Yojana के माध्यम से ना केवल UJALA LED bulbs बल्कि 20W LED tube lights and BEE 5-star rated Fans भी वितरित किये जा रहे है, जो 20W LED Tubelight 40W का पुरानी tubelight से 50% कम उर्जा खर्च करती है। जिसकी योजना के अन्तर्गत Price Rs. 220/- प्रति tubelight रखी गयी है।  योजना में दिए जा रहे 50W BEE- 5-star Fan से 30% तक कम उर्जा की खपत होती है, जिसे योजना के माध्यम से Rs. 1200/- प्रति Fan के हिसाब से खरीदा जा सकता है। 

Online Process for Complaint

Pradhan Mantri Ujala Yojana के अंतर्गत दिए गए UJALA LED bulbs & Tubelight अगर 3 साल के अंतर्गत किसी टेक्निकल डिस्ट्रिक्ट से खराब हो जाते हैं तो,  Energy Efficiency Services Limited (EESL)  द्वारा  फ्री ऑफ कॉस्ट UJALA LED bulbs  को replace  किया जाएगा। जबकि योजना के अन्तर्गत वितरित किये जाने वाले पंखे में मामले में समयावधि 2.5 वर्ष है।  उपभोक्ता इस संबंध में Distribution kiosks, Customer Care Service Centre,social media/web platform of UJALA (National Ujala Dashboard) के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज कर सकता है।  योजना के अंतर्गत वितरित किए जाने वाले UJALA LED bulbs  की खराबी  की  दर  औषत 0.3%,  रही है, यह आंकड़ा दिल्ली में सबसे अधिक  (0.97%)  रहा है। अगर किसी उपभोक्ता को उजाला वेब पोर्टल के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज करानी है तो नीचे दिए गए स्टेट्स को फॉलो करें-

  • सर्वप्रथम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।  होम पेज आपके समक्ष खुल जाएगा।
  • Home Page  पर Top Side में Register your complaint का Option दिखाई देगा। Register your complaint विकल्प पर क्लिक करें।
  •  क्लिक करते ही New Complaint Registration का नया पेज खुल जाएगा।  Basic Information Section में Drop Down list से Scheme, State, District का चुनाव करें।
  • आपना Mobile Number, Name, Pole ID No, Light Type (LED Or Non-LED), Address (Complaint Location) & Landmark (complaint location) भरे तथा Remarks में शिकायत के बारे में लिखे और Captcha Code को भरे और Save के बटन पर Click करे। 
  • इस प्रकार National Ujala Dashboard पर आपकी शिकायत दर्ज हो जाएगी। अपनी शिकायत का शिकायत नम्बर जरूर नोट कर ले। जो भविष्य में reference के तौर पर काम आयेगी। 

Ayushman Bharat Yojana List

Details of Complaint Related Platforms 

Twitter – @EESL_India

Facebook- @EESLIndia

Official E-mail – [email protected]

Official Web Site http://support.eeslindia.org/

PM Ujala Yojana Overall Targets 

  • Pradhan Mantri Ujala Yojana के माध्यम से भारत सरकार कॉल अक्षय कुल 3 वर्ष की अवधि में 770 million incandescent bulbs  को LED Bulbs  से बदलना है। 
  • भारत सरकार ने  इस योजना के माध्यम से प्रतिवर्ष 105 BN KWh  बिजली की बचत का लक्ष्य रखा है।
  •  इस योजना के द्वारा आने वाले Peak load को  20000 MW  तक कम करना है।
  • भारत सरकार ने पीएम उजाला योजना के माध्यम से ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में 79 मिलियन प्रतिवर्ष कटौती करने का लक्ष्य रखा है । 

Ayushman Bharat Yojana Registration Online

Pradhan Mantri  Ujala Yojana Features 

  • Pradhan Mantri Ujala Yojana के अंतर्गत उपभोक्ताओं को ₹75 से ₹95 के बीच उच्च गुणवत्ता वाले एलईडी बल्ब वितरित किए जाएंगे।  ताकि साधारण बल्ब से हो रही अनावश्यक बिजली  खपत को कम किया जा सके।
  • इस योजना के अंतर्गत 9 वाट के एलईडी बल्ब,  20 वाट की ट्यूबलाइट तथा 50W BEE 5-Star पंखे  प्रदान किए जा रहे हैं।
  • 20W LED tube lights  50% कम ऊर्जा खपत करती है जिसकी कीमत ₹220 प्रति ट्यूबलाइट रखी गई है।
  • 50W BEE- 5-star Fan  30% कम ऊर्जा की खपत करता है जिसकी कीमत 1200 रुपए प्रति पंखे के हिसाब से रखी गई है।
  • Pradhan Mantri Ujala Yojana का क्रियान्वयन ऊर्जा मंत्रालय के अंतर्गत आने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी Energy Efficiency Services Limited (EESL) दी गई है जिसे DISCOM  द्वारा वित्त पोषित किया जाएगा।
  • योजना के माध्यम से भारत सरकार नागरिकों को ऊर्जा बचत वाले उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद खरीदने के लिए प्रोत्साहित कर रही हैं।

Conclusion 

Pradhan Mantri Ujala Yojana की शुरुआत प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा  बिजली उपभोक्ताओं को उच्च गुणवत्ता वाले बिजली उत्पादों का प्रयोग कर बिजली खपत को कम करने के साथ-साथ कार्बन डाइऑक्साइड गैस के उत्सर्जन को कम करना भी रहा है। इस योजना के माध्यम से सस्ती दरों पर बिजली उपभोक्ताओं को एलईडी बल्ब, ट्यूबलाइट व पंखे प्रदान किए जा रहे हैं। इस योजना के माध्यम से भारत सरकार ने अनावश्यक रूप से हो रहे बिजली की खपत को काफी हद तक कम कर लिया है। इस योजना की सफलता को देखते हुए पड़ोसी देश मलेशिया में भी इस योजना को अपनाया है। इस योजना के माध्यम से भारत सरकार ना केवल उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों के प्रति ग्राहकों को जागरूक कर रही है बल्कि उनके द्वारा किए जाने वाले अनावश्यक बिजली खपत को कम भी कर रही है। 

Also Read: – Sarbat Sehat Bima Yojana Punjab

Spread the love

This Post Has 5 Comments

Leave a Reply

Pradhan Mantri Ujala Yojana(EESL)