One District One Product Scheme Online Apply: odopup.in/

One District One Product Scheme | One District One Product | One District One Product Scheme  Uttar Pradesh | वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट स्कीम | ODOP Scheme | One District One Product  List   |  One District One Product  Scheme Summit    |ODOP UP Scheme | ODOP UP

20 December 2020 by Guru R P

one-district-one-product-sheme- odopup

One District One Product Scheme– उत्तर प्रदेश राज्य 240928 वर्ग किलोमीटर विशाल भौगोलिक विस्तार व 204.2 मिलियन आबादी के साथ  जीवन के विभिन्न पहलुओं में विविधता को अपने अंदर समेटे हुए है। राज्य  ने विभिन्न इलाके, विविध फसलें, विविध प्रकार के खाद्य पदार्थ, विविध जलवायु, विविध प्रकार की सामुदायिक परंपराओं और आर्थिक गतिविधियों के साथ अपनी विविधता को बनाए  रखा है। उत्तर प्रदेश में शिल्प और उद्योग की महान और सुंदर विविधता भी निवास करती है।  यहां छोटे छोटे शहर और छोटे छोटे जिले भी अपने विशिष्ट और अप्रत्याशित उत्पादों के लिए जाने जाते हैं

उत्तर प्रदेश सरकार ने इन स्वदेशी और विशेष उत्पादों और शिल्प कला को प्रोत्साहित करने के लिए वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट स्कीम (One District One Product Scheme)  की शुरुआत की है। उत्तर प्रदेश में ऐसे विभिन्न प्रकार के उत्पाद हैं, जो देश के किसी और कोने में नहीं पाए जाते हैं। जैसे प्राचीन और पौष्टिक काला नमक,  चावल,  दुर्लभ और पेचीदा गेहूं डंठल शिल्प कला, विश्व प्रसिद्ध चिकनकारी,जरी- जरदोजी कपड़े पर  काम, मृत जानवरों के अवशेषों का उपयोग करते हुए आश्चर्यजनक सिंह हड्डी का काम,  हाथी दांत पर प्रकृति के अनुरूप प्रतिस्थापन आदि।  इनमें से कई उत्पादों को उत्तर प्रदेश  के उस क्षेत्र में विशिष्ट होने के रूप में प्रमाणित करने के लिए जियो टैग दिया गया है। इनमें से कई ऐसे उत्पाद थे, जो सामुदायिक परंपराओं को बढ़ावा देते थे। लेकिन विलुप्त होते जा रहे थे, जिन्हें राज्य सरकार द्वारा आधुनिकीकरण और विज्ञापन के माध्यम से  पुनर्जीवित किया जा रहा है।

one-district-one-product-scheme-uttar-pradesh

राज्य के अधिकांश उद्योग धंधे सामान्य हैं लेकिन इनमें बनने वाले उत्पाद उस क्षेत्र  के लिए विशेष या अद्वितीय हैं। राज्य मैं बहुत से  क्षेत्र विभिन्न उत्पादों जैसे हींग,  देसी घी,  कांच से बने फैंसी सामान,  बेडशीट,  विभिन्न प्रकार का गुड,  चमड़े का सामान आदि  के लिए विशेष तौर पर जाने जाते हैं।  ये उद्योग धंधे छोटे और मध्यम कार के हैं, आधुनिकीकरण व मशीनों के प्रयोग के द्वारा इनके उत्पादन को बढ़ाने की आवश्यकता है। जिस प्रकार उत्तर प्रदेश में विभिन्न धर्मो, जल वायु ,आस्था और विभिन्न संस्कृतियों की विविधता लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र है, उसी प्रकार यहां बनने वाले विभिन्न उत्पादों और शिल्प की विविधता भी लोगों को लुभाती है । इन विभिन्न प्रकार के उत्पादों और शिल्प को बढ़ावा देने के लिए यूपी सरकार वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट स्कीम (One District One Product Scheme) को लेकर आई है।

“It is the duty of the Government to make all efforts for the social and economic development of the citizens and work for their interest and welfare. I am happy to learn that Uttar Pradesh Government is implementing ‘Ek Janpad Ek Utpad’ Yojana with the aim of achieving comprehensive and balanced economic development of the state.

I hope that as part of this Programme, the Government will take all necessary steps to usher in all-round development and will continue with its effort to achieve the goal of ‘Sabka Sath Sabka Vikas’.

I convey my good wishes for the successful implementation of this Programme in Uttar Pradesh.”

Shri Ram Nath Kovind,  Hon’ble President, Republic of India

What is ODOP Programme?

एक जनपद एक उत्पाद (One District One Product -ODOP)  प्रोग्राम  की शुरुआत राज्य के मुख्यमंत्री माननीय श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 24 जनवरी 2018 को उत्तर प्रदेश  दिवस के अवसर पर की गई थी राज्य सरकार द्वारा  वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के घरेलू और विशेष उत्पादों या शिल्प की उपलब्धता और विक्रय को बढ़ाना है, जिससे राज्य में क्षेत्रीय स्तर पर रोजगार के अवसरों  में वृद्धि की जा सके।  One District One Product Scheme में प्रत्येक जनपद  के एक विशेष उत्पाद  को चयनित किया गया है, जो संबंधित जनपद में अपने उनका उत्पादन और निर्माण के लिए परंपरागत रूप से विख्यात है। जैसे लखनऊ   जनपद अपनी जरी-जरदोजी  व चिकनकारी के लिए विख्यात है।

“It is heartening to note that the Government of Uttar Pradesh is formulating and implementing policies on priority, which are designed to create a congenial environment for accelerated industrial development and capital investment. By recently announced U.P. Industrial Investment and Employment Promotion Policy and Micro, Small and Medium Enterprises Policy, 2017 the government has infused a renewed confidence in entrepreneurs, exporters and artisans of the State.

Traditional crafts, craftsmen, weavers and artisans play an important role in imparting pace to the economic development of the State. Driven by innovative ideas and commitment to balanced industrial development, the Government of Uttar Pradesh has decided to implement ‘One District – One Product’ Programme. This Programme will pave a new way for inclusive development of the State. I am convinced that this Programme can take the State to new heights of economic development by linking the production with tourism, the development of local craft skills and employment opportunities.

I convey my good wishes and full cooperation to Hon’ble Chief Minister of Uttar Pradesh, Shri Yogi Adityanath for adopting this dynamic concept of ‘One District – One Product’ and its successful implementation.”

Shri M. Venkaiah Naidu, Hon’ble  Vice President, Republic of India

One District One Product Scheme के अंतर्गत चयनित उत्पादों में से अधिकांश की जी आई टैगिंग हो चुकी है जिसका अर्थ है कि  ये उत्पाद उत्तर प्रदेश के विशिष्ट स्थानों से संबंध रखते हैं। इनमें से कई उत्पादों को ओडीओपी योजना के अंतर्गत आधुनिकीकरण व प्रसार के माध्यम से पुनर्जीवित किया जा रहा है,  जिससे  इन उत्पादों के निर्माण की प्रक्रिया सामुदायिक परंपरा को भी एक नया रंग रूप दे रही है। राज्य सरकार द्वारा  One District One Product Scheme के अंतर्गत शिल्पकारो, विभिन्न उत्पादन इकाइयों, व संगठनों को, जो इन चयनित उत्पादों से संबंध रखते हैं, क विभिन्न प्रकार से ऋण, सामान्य सुविधा केंद्र व विपणन सहायता प्रदान करके बढ़ावा दिया जा रहा है ताकि ये उत्पाद   लोकप्रिय हो सके व  जनपद स्तर पर रोजगार के अवसरों  का सर्जन किया जा सके।

Objectives of One District One Product Scheme?

One District One Product Scheme के उद्देश्य इस प्रकार हैं-

  • स्थानीय शिल्प कला व क्षमता को बढ़ावा देकर उसे संरक्षण व विकास प्रदान करना।
  • राज्य में एक प्रतियोगी तंत्र को विकसित करते हुए राज्य के युवाओं को  स्थानीय स्तर पर रोजगार प्रदान करना।
  • जनपद में लोगों के स्थानीय कौशल को विकसित कर प्रमोट करना।
  • जनपद स्तर पर लोगों के लिए रोजगार के अवसर व आय वृद्धि करते हुए, रोजगार के लिए शहरों की तरफ भागने की प्रवृत्ति को रोकना।
  • जनपद स्तर पर चयनित उत्पाद की गुणवत्ता  में सुधार लाते हुए उत्पादन में वृद्धि करना।
  •  योजनाबद्ध तरीके से ओडीओपी टीम के उत्पादों को विश्व स्तर पर पहचान दिलाना।

उत्तर प्रदेश सरकार  राज्य के विभिन्न जनपदों में पारंपरिक कला या शिल्प की पहचान करने के साथ-साथ शिल्प के निर्माण और विपणन के लिए एक क्लस्टर विकसित करने के उद्देश्य से इस योजना में को प्रारंभ किया गया है। इस योजना का मुख्य क्राइटेरिया यह है कि कोई कला उस क्षेत्र विशेष के लिए अद्वितीय होनी चाहिए। उत्तर प्रदेश में यह योजना अत्यंत सफल रही है, जिसकी सफलता को देखते हुए केंद्र सरकार भी इस योजना को शुरू कर सकते हैं।  One District One Product Scheme ग्रामीण अर्थव्यवस्था को निम्न प्रकार से बदल सकते हैं-

स्वदेशी शिल्प के लिए बाजार-  हमने देखा है अक्सर प्राचीन कला और शिल्प के उपेक्षा की जाती है क्योंकि वह बाजार  श्रंखला के अभाव में व्यवसायिक रूप से व्यवहारिक नही हैं। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार कला और शिल्प को मंच प्रदान कर विपणन कर आर्थिक रूप से सफल बनाया जा रहा है।

कृषि पर निर्भरता कम करना–  भारत में ग्रामीण अर्थव्यवस्था पूर्णतया कृषि पर आधारित है और तेजी से बढ़ती हुई जनसंख्या को देखते हुए  यह आवश्यक है कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को कौशल का उपयोग कर  विविधता पूर्ण बनाया जाए और लाभ के अवसर पैदा किए जाएं।

सांस्कृतिक विरासत का संरक्षण-  One District One Product Scheme के अंतर्गत पारंपरिक कला और शिल्प के विपणन के माध्यम से व्यावसायिक लाभ के साथ-साथ संस्कृति के संरक्षण में भी मदद मिलेगी। इस योजना के माध्यम से आने वाली पीढ़ियों में  कौशल पैदा करने के लिए  समय और प्रयास का निवेश करने में सक्षम होंगे,  जो  उन्हें सम्मान के साथ साथ पैसा कमाने में भी कामयाब बनाएगा।  इस प्रकार कला का पुनरुद्धार होगा।

समान विकास–  One District One Product Scheme के अंतर्गत 1 जिले में एक ही कलायत शिल्प का निर्माण उद्योग स्थापित होगा जिससे अन्य जिलों और क्षेत्रों के हस्तक्षेप के बिना अपने स्वयं के अनूठे उद्योग को विकसित करने के लिए सहायता मिलेगी। यदि  सम्मान विकास करना है तो हर जिले को अवसर देना अनिवार्य है।

UP Ration Card List 

Eligibility for One District One Product Scheme

  •  आवेदक की उम्र आवेदन के समय कम से कम 18 वर्ष हो।
  • अमित को किसी प्रकार की शैक्षणिक योग्यता की आवश्यकता नहीं है।
  • One District One Product Scheme के अंतर्गत उद्योग, सेवा एवं व्यवसाय के क्षेत्र से जुड़े हुए संबंधित जनपद से चिन्हित  ODOP UP उत्पादों की इकाइयों को ही प्राप्त होगा।
  • आवेदक या उद्योग इकाई किसी भी राष्ट्रीय कृत बैंक वित्तीय संस्था यह सरकारी संस्था से डिफाल्टर नहीं होना चाहिए।
  •  आवेदक द्वारा भारत सरकार या उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित किसी अन्य स्वरोजगार योजना का लाभ पूर्व में प्राप्त ना किया हो।
  • One District One Product Scheme के अंतर्गत आवेदक किया उसके परिवार के किसी सदस्य को केवल एक ही बार लाभान्वित किया जा सकता है।
  • आवेदक  द्वारा पात्रता शर्तों को पूरा किए जाने के संबंध में एक शपथ पत्र तैयार कर  जमा कराया जाएगा।
  • One District One Product Scheme के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने वाले विशेष श्रेणी जैसे अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, महिला एवं दिव्यांगजन के आवेदक सक्षम अधिकारी द्वारा सत्यापित  विशेष श्रेणी दस्तावेज़ आवेदन के साथ  लगाएंगे।

Margin Money for One District One Product Scheme

राज्य सरकार द्वारा One District One Product Scheme के प्रोत्साहन के लिए विभिन्न आवेदकों या उद्यमियों को नीचे दी गई तालिका के अनुसार प्रोत्साहन राशि प्रदान की  जाती है-

परियोजना लागत (₹ लाख)मार्जिन मनी सहायता
25 तकपरियोजना लागत राशि का 25 प्रतिशत या अधिकतम ₹ 6.25 लाख, जो भी कम हो।
25 से अधिक और 50 से कमपरियोजना लागत राशि का 20 प्रतिशत या अधिकतम ₹ 6.25 लाख, जो भी अधिक हो।
50 से अधिक और 150 से कमपरियोजना लागत राशि का 10 प्रतिशत या अधिकतम ₹ 10 लाख, जो भी अधिक हो।
150 से अधिक परियोजना लागत राशि का 10 प्रतिशत या अधिकतम ₹ 20 लाख, जो भी कम हो।

“उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 24 जनवरी 2018 को “एक जनपद एक उत्पाद” कार्यक्रम के शुभारम्भ के बारे में जानकर प्रसन्नता हुई है। इस पहल से पं. दीन दयाल उपाध्याय द्वारा समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति तक लाभ पहुंचाने के विचार को बल मिलेगा।

गांधी जी ग्रामीण विकास के लिए जिन बुनियादी चीजों को आवश्यक समझते थे उनमें ग्राम स्वराज, ग्रामोद्योग और समग्र ग्राम विकास प्रमुख हैं। गांधी जी कहते थे कि ‘भारत गांवों में बसता है’। भारत के विकास के लिए गांवों का विकास करना आवश्यक है। विकास की यात्रा में गांवों को साथ लेकर चलने और किसानों की आय को दोगुनी करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।

उत्तर प्रदेश के समृद्ध कारीगरों ने अपनी उत्कृष्ट कला से देश में एक अलग पहचान बनाई है। हर जनपद को किसी विशेष उत्पाद के लिए जाना जाता है। मुझे आशा है कि श्री योगी आदित्यनाथ जी की ‘एक जनपद एक उत्पाद’ की अवधारणा से पिछड़े वर्गों, महिलाओं और युवाओं को विशेष लाभ पहुंचेगा। हर जनपद विकास की एक नई कहानी लिखेगा और असंतुलित क्षेत्रीय विकास दूर करने में मदद मिलेगी।

इस महत्वपूर्ण और दूरगामी परिणाम देने वाली पहल के लिए मैं उत्तर प्रदेश सरकार को बधाई देता हूं। ‘एक जनपद एक उत्पाद’ कार्यक्रम की सफलता के लिए शुभकामनाएं।”

Shri Narender Modi, Hon’ble  Prime Minister of India

Important Point of ODOP UP Scheme

  • One District One Product Scheme को सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और अन्य अनुसूचित अनुसूचित वाणिज्य बैंकों द्वारा वित्त पोषित किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत विभाग द्वारा आवेदक को उपरोक्त तालिका के अनुरूप मार्जिन मनी स्वीकृत की जाएगी>
  • विभाग के द्वारा अनुदान राशि को योजना के लाभार्थियों को परियोजना  को 2 साल तक सफलतापूर्वक संचालन  व किसी भी प्रकार के डिफाल्टर ना होने की दशा में  सब्सिडी के रूप में संयोजित कर दिया जाएगा।
  • One District One Product Scheme के अंतर्गत सामान्य श्रेणी के लाभार्थियों को  कुल परियोजना लागत का 10% अंशदान के रूप में श्रम जमा करवाना  होगा जबकि विशेष श्रेणियों ( अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, महिला एवं दिव्यजन) के आवेदकों को कुल योजना लागत का 5% अंशदान के रूप में स्वयं जमा कराना होगा।
  • One District One Product Scheme के अंतर्गत ऋण स्वीकृत होने के बाद लाभार्थियों को राज्य की प्रतिष्ठित है संस्थाओं जैसे राजकीय पॉलिटेक्निक, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, RSETI, उद्यमिता विकास संस्थान आदि के माध्यम से विशेष प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।

अगर कोई आवेदक One District One Product Scheme की पात्रता की शर्तें एवं विवरण को डाउनलोड  करना चाहता है,  तो  इसे डाउनलोड करने के लिए करने के लिए आवेदक पात्रता की शर्तें व विवरण लिंक पर क्लिक करें।

What are the One District One Product Schemes?

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा One District One Product Scheme  को सफल बनाने के लिए इसके अंतर्गत विभिन्न प्रकार की छोटी-छोटी योजनाएं शामिल की गई हैं,  जो इस प्रकार हैं-

  • सामान्य सुविधा केंद्र योजना (Common Facility Centre Scheme )
  • विपणन विकास सहायता योजना (Marketing Development Assistance Scheme)
  • वित्तीय सहायता योजना (मार्जिन मनी योजना) ( Finance Assistance Scheme (Margin Money Scheme)
  • क्षमता विकास योजना (Skill Development Scheme)

What is the Marketing Development Assistance (MDA) scheme under ODOP?

मार्केट डेवलपमेंट असिस्टेंट स्कीम का मुख्य उद्देश्य One District One Product Scheme के अंतर्गत आने वाले विभिन्न उत्पादों के बेहतर विपणन से शिल्पकारो, बुनकरों उद्यमियों व निर्यातकों को उनकी सेवा के अनुरूप उचित मूल्य प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाले विभिन्न मेलों व प्रदर्शनों में स्थानीय लोगों को भागीदारी करने तथा ODOP UP Scheme में चयनित अपने उत्पादों को बिक्री के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। अगर आप इस संबंध में और अधिक जानकारी चाहते हैं तो उत्तर प्रदेश सरकार की ऑफिशल वेबसाइट  पर विजिट अवश्य करें या अपने नज़दीकी डी आई सी से संपर्क करें।

Mera Parivar Pehchan Patra Portal 

What is the Margin Money / Financial Assistance Scheme?

फाइनेंसियल असिस्टेंट स्कीम के अंतर्गत लगभग सभी राष्ट्रीय कृत बैंक क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक अनुसूचित बैंक वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट स्कीम को वित्तीय सहायता प्रदान करेंगे। इसके अलावा सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग वह निर्यात संवर्धन विभाग इस योजना के अंतर्गत भेजे गए तमाम आवेदकों को मार्जिन मनी स्कीम के तहत सहायता प्रदान करेंगे।

How much subsidy will be provided under the Margin Money scheme?

मार्जिन मनी स्कीम के अंतर्गत निम्न प्रकार सहायता प्रदान की जाएगी-

  • यदि किसी उद्योग की परियोजना लागत राशि ₹2500000  तक है, तो उसकी कुल लागत का 25% अथवा 6:25 लाख अधिकतम, में से जो भी कम होगा, वह राशि मार्जिन मनी स्कीम के तहत उसे प्रदान की जाएगी।
  • यदि किसी उद्योग की परियोजना लागत राशि ₹2500000 रुपए से ₹5000000 तक है, तो उन्हें परियोजना लागत का 20% या 6:25 लाख में से, जो भी अधिक होगा, वह राशि मार्जिन मनी स्कीम के तहत प्रदान की जाएगी।
  • यदि किसी उद्योग की परियोजना लागत राशि ₹5000000 रुपए से ₹15000000 तक है, तो उन्हें परियोजना लागत का 10% या 10 लाख में से, जो भी अधिक होगा, वह राशि मार्जिन मनी स्कीम के तहत प्रदान की जाएगी।
  • यदि किसी उद्योग की परियोजना लागत राशि ₹15000000 से अधिक है, तो उसकी कुल लागत का 2510% अथवा 20 लाख अधिकतम, में से जो भी कम होगा, वह राशि मार्जिन मनी स्कीम के तहत उसे प्रदान की जाएगी।

यदि कोई उद्यमी 2 साल तक सफलतापूर्वक  इस योजना के अंतर्गत कार्य कर लेता है, तो मार्जिन मनी स्कीम के तहत दी गई राशि को सब्सिडी के साथ  समायोजित (Merge)  कर दिया जाएगा। अगर आप इस संबंध में और अधिक जानकारी चाहते हैं, तो उत्तर प्रदेश सरकार की ऑफिशल वेबसाइट  पर विजिट अवश्य करें या अपने नज़दीकी डी आई सी से संपर्क करें।

 What is the Skill Development scheme under ODOP?

Objective

ओडीओपी क्षमता विकास तथा टूल किट वितरण योजना का मुख्य उद्देश्य वर्तमान और भविष्य के लिए जरूरी स्केल्ड वर्कफोर्स को ध्यान में रखते हुए, पूरे उत्तर प्रदेश में ओडीओपी स्कीम के तहत चयनित तमाम उत्पादों की श्रृंखला के लिए कर्मियों को अधिक क्षमतावान बनाना है। इस योजना के माध्यम से विभिन्न शिल्पकारों व कामगारों को उनकी  विशेष Skill  को विकसित करने के लिए  आधुनिक टूल किट से लैस किया जा रहा है।

Eligibility

इस योजना का लाभ उठाने के लिए शिल्पकार ओवर कामगारों के पास निम्नलिखित  पात्रता मानदंड होने जरूरी हैं-

  • आवेदक की आयु 18 वर्ष से कम ना हो।
  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी  हो।
  • आवेदक को इसके लिए किसी प्रकार की शैक्षणिक योग्यता की आवश्यकता नहीं है।
  •  आवेदक ने गत 2 वर्षों में भारत सरकार अथवा उत्तर प्रदेश सरकार से किसी अन्य योजना के तहत टूल किट्स संबंधित लाभ प्राप्त ना किए हो।
  • आवेदक या उसका परिवार केवल एक ही बार इस योजना का लाभ उठा सकता है।  जहां परिवार का अर्थ पति  व पत्नी द्वारा गठित परिवार से हैं।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को एक शपथ पत्र प्रस्तुत करना होता है कि वह तमाम पात्रता मानदंडों को पूरा कर रहा/ ऱही है।

Mera Parivar Pehchan Patra Portal 

Incentives- 

  • जो शिल्पकार पहले से क्षमता वाहन है उन्हें RPL यानी (रिकॉग्निशन आफ प्रायर लर्निंग) का प्रशिक्षण दिया जाएगा और उन्हें संबंधित क्षेत्र क्षमता परिषद (सेक्टर स्किल काउंसिल) द्वारा इस संबंध में प्रमाण पत्र भी जारी किया जाएगा।
  • जो शिल्पकार पूर्णता दक्ष नहीं है उन्हें 10 दिन का विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा तथा प्रशिक्षण के उपरांत आर पी एल द्वारा प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले शिल्पकारो या  प्रशिक्षुओं को ₹200 प्रतिदिन के हिसाब से मानदेय प्रदान किया जाएगा।
  •  इस योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले तमाम शिल्पकारों को विभाग के द्वारा एक आधुनिक किट निशुल्क प्रदान किया जाएगा।

अगर आप इस संबंध में और अधिक जानकारी चाहते हैं, तो उत्तर प्रदेश सरकार की ऑफिशल वेबसाइट  पर विजिट अवश्य करें या अपने नज़दीकी डी आई सी से संपर्क करें।

What is the Common Facility Centre (CFC) scheme?

Objective of the CFC scheme

One District One Product Scheme को सफल बनाने के लिए विभिन्न प्रकार की सहायक योजनाओं के अंतर्गत कॉमन फैसिलिटी सेंटर स्कीम की शुरुआत भी राज्य सरकार द्वारा की गई है जिसके तहत निम्नलिखित  गतिविधियों को शामिल किया गया है-

  • परीक्षण प्रयोगशाला- Testing Lab
  • डिज़ाइन विकास व प्रशिक्षण केंद्र -Design Development and Training Centre
  • तकनीकी अनुसंधान व विकास केंद्र- Technical research and Development Centre
  • उत्पाद प्रदर्शन-सह-विक्रय केंद्र – Product exhibition cum Selling Centre
  • कच्चा माल बैंक/सामान्य संसाधन केंद्र – Raw Material Bank / Common Resource Centre
  • सामान्य रसद केंद्र – Common Logistics Centre
  • सूचना, संचार एवं प्रसारण केंद्र – Information, Communication and Broadcasting Centre
  • पैकिंग, लेबलिंग तथा बारकोडिंग सुविधाएं – Packaging, Labelling and Barcoding facilities
  • मूल्यवान शृंखला से संबन्धित अन्य अनुपलब्ध सुविधाएं – Other such facilities related to missing link of value chain

Eligibility

राज्य सरकार द्वारा One District One Product Scheme के अंतर्गत आने वाली कॉमन फैसिलिटी सेंटर स्कीम  मैं NGOs (Non-Governmental Organizations), Volunteer Organizations, Self Help Groups, Producer Companies, Private Limited Companies, Limited Liability Partnership, and Cooperatives  आदि को शामिल किया गया है।

Online UHBVN Bill Payment 

Process to establish a Common Facility Centre (CFC)

  • कॉमन फैसिलिटी सेंटर स्कीम के अंतर्गत एक Special Purpose Vehicle (एस पी वी) तैयार किया जाएगा
  • स्पेशल पर्पज व्हीकल टीम कम से कम 20 सदस्यों की होगी, जिसके कुल सदस्यों में कम से कम दो तिहाई सदस्य वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट कार्यक्रम से संबंधित होंगे।
  • स्पेशल पर्पज व्हीकल एप्रोप्रियेट रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी से पंजीकृत होगा।
  • स्पेशल पर्पज व्हीकल  मैं   ओडीओपी उत्पादों से संबंधित तथा राज्य सरकार का कोई ना कोई प्रतिनिधि अवश्य होगा।
  •  किसी भी एक सदस्य के पास स्पेशल पर्पज व्हीकल   में हिस्सेदारी 10% से अधिक नहीं होगी।
  • कॉमन फैसिलिटी सेंटर के प्रबंधन क्रियान्वयन वह रखरखाव की जिम्मेदारी स्पेशल पर्पज व्हीकल  टीम की होगी तथा इससे संबंधित खर्च राज्य सरकार वहन नहीं करेगी।
  • इस योजना की इच्छुक पार्टियों से EOI (Expression of Interest)  मांगा जाएगा।

  Incentives

  • अगर किसी कॉमन फैसिलिटी सेंटर परियोजना की लागत राशि 15 करोड़ तक है, तो राज्य सरकार परियोजना लागत राशि का 90% सहायता के रूप में देगी तथा  शेष 10%  परियोजना लागत राशि स्पेशल पर्पज व्हीकल  द्वारा वहन किया जाएगा।
  • अगर किसी कॉमन फैसिलिटी सेंटर परियोजना की लागत राशि 15 करोड़ से अधिक है तो भी राज्य सरकार द्वारा उसे वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी लेकिन राज्य सरकार के अंशदान की गणना 15 करोड़ की राशि पर ही की जाएगी।
  • राज्य सरकार द्वारा इसी तरह की अन्य परियोजना से संबंधित संस्था को भी सहायता प्रदान करेगी जो पूर्व में केंद्र सरकार या राज्य सरकार द्वारा स्वीकृति प्राप्त कर चुकी है लेकिन धनराशि के अभाव में अभी तक अपूर्ण है। इन परियोजनाओं के द्वारा उचित स्पष्टीकरण देने के बाद ही राज्य सरकार इनकी सहायता करेगी।

यदि आप इस संबंध में और अधिक जानकारी चाहते हैं, तो उत्तर प्रदेश सरकार की ऑफिशल वेबसाइट  पर विजिट अवश्य करें या अपने नज़दीकी डी आई सी से संपर्क करें।

How We Can Apply Online for ODOP Scheme

अगर आप उत्तर प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी योजना One District One Product  के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो उसके लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें-

  • One District One Product Scheme के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सर्वप्रथम आवेदन कर्ता को ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।  जहां  ऑफिशियल वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • ऑफिशियल वेबसाइट पर नेवीगेशन मेनू में दिए गए ऑप्शन “अप्लाई ऑनलाइन” पर अपना माउस ले जाएं।  माउस ले जाते ही आपको ODOP Margin Money Scheme व  ODOP Training and Toolkit Scheme (ओडीओपी ट्रेनिंग एंड टूल किट स्कीम) ऑप्शन दिखाई देंगे।  अगर आप मार्जिन मनी स्कीम मैं आवेदन करना चाहते हैं, तो ओडीओपी मार्जिन मनी स्कीम के लिंक पर क्लिक करें।
  •  अगर आप ओडीओपी ट्रेनिंग एंड टूल किट  के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो ओडीओपी ट्रेनिंग एंड टूल किट स्कीम  के लिंक पर क्लिक करें।  दोनों परिस्थिति में आपको नए  पेज पर रीडायरेक्ट कर  दिया जाएगा।
  • नहीं पेज पर अपनी योजना का चयन करें और उसके सामने दिए गए ऑप्शन आवेदन करें पर क्लिक करें।  आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • इसके बाद आपको ऑफिशियल वेबसाइट पर लॉग इन करने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।  रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए लॉगइन सेक्शन में दिए गए “आवेदक लॉगिन” ऑप्शन में जाकर “नवीन उपयोगकर्ता पंजीकरण” New User Registration पर क्लिक करें।
  •  एक नया पॉप अप पेज खुल जाएगा।  इस पेज में आवेदक से संबंधित  योजना का नाम जिसमें उसे आवेदन करना है, आवेदक का नाम, जन्मतिथि, पिता का नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी एवं जिला का नाम का ब्यौरा मांगा जाएगा। मांगी गई तमाम जानकारियों को  संबंधित फील्ड में भरें।
  •  नीचे दिए गए सुरक्षा कोड यानी कैप्चा कोड को दिए गए कॉलम में भरें और सबमिट करें। इस प्रकार आपकी रजिस्ट्रेशन प्रोसेस कंप्लीट हो जाएगी।
  • इसके बाद आवेदक अपना पासवर्ड बदलें और पुणे लॉगइन सेक्शन में जाकर यूजर आईडी व पासवर्ड के साथ लॉगिन करें।
  • यदि आवेदक पहले से विभाग के इस पोर्टल पर पंजीकृत है तो वह है सीधे ही लोग इन्फेक्शन में जाकर यूजर आईडी और पासवर्ड का प्रयोग करते हुए नीचे दिए गए सिक्योरिटी कोड को भरे तथा लॉगइन बटन पर क्लिक करें।
  • आवेदक विभाग के पोर्टल पर उपलब्ध योजनाओं में लगने वाले अनिवार्य दस्तावेज या निर्देशों की सूची को “ ऑनलाइन लाभार्थी परख योजना हेतु महत्वपूर्ण निर्देश”  लिंक पर क्लिक कर  प्राप्त कर सकता है।
  • One District One Product Scheme के लिए आवेदन करते समय आवेदक को अपलोड किए जाने वाले समस्त दस्तावेज सही और स्पष्ट रूप से दिखने चाहिए।  अगर ऐसा नहीं होता है तो आवेदक को दस्तावेज उन्हें अपलोड करने के लिए वापस पोर्टल पर भेज दिया जाता है या फिर आवेदन पत्र निरस्त किया जा सकता है।
  • आवेदन करने से पहले आवेदन करता यह सुनिश्चित कर लें कि आवेदन में अपलोड किए जाने वाले समस्त दस्तावेज की स्कैन कॉपी जेपीईजी या पीडीएफ फॉर्मेट में हो और उसकी साइज 300 केबी या उससे कम हो तथा नवीनतम पासपोर्ट साइज फोटो का आकार 20 केवी या उससे कम होना चाहिए।
  • इसके बाद आवेदक ऑनलाइन आवेदन को    निम्न 3 चरणों में पूरा करेगा (i) सबसे पहले आवेदक दिए गए ऑनलाइन आवेदन  मैं उपलब्ध सभी फील्ड्स को सही-सही भरेगा, (ii) योजना  की आवश्यकता अनुसार आवश्यक सभी दस्तावेज अपलोड करेगा ,(iii)  शपथ पत्र यदि किसी योजना के लिए आवश्यक है, का प्रिंटआउट लेकर Notary से सत्यापित करवा, सत्यापित प्रति को अपलोड करेगा।
  • इसके बाद आवेदक ड्राफ्ट कॉपी का प्रिंटआउट लेकर अच्छी तरह जांच कर ले कि आवेदन में किसी प्रकार के त्रुटि तो नहीं रह गई है, अगर किसी प्रकार के त्रुटि दिखाई देती है तो उसे ठीक कर ले।
  •  आवेदक यह सुनिश्चित कर ले कि  उसके द्वारा अपलोड किए गए तमाम आवश्यक दस्तावेज पोर्टल की साइट पर स्पष्ट रूप से दिखाई  देनी चाहिए।
  • इसके उपरांत आवेदक प्रति ऑप्शन में जाकर फाइनली आवेदन को सबमिट कर दें।  यह ध्यान रहे एक बार अंतिम रूप से आवेदन सबमिट करने के बाद उसमें किसी प्रकार का संशोधन नहीं किया जा सकता है।
  •  आवेदन अंतिम रूप से सबमिट करने के बाद  भविष्य के रेफरेंस के लिए उसका एक  प्रिंट आउट ले ले।
  • आवेदक अपने आवेदन की स्थिति को पोर्टल पर “आवेदन स्थिति” के ऑप्शन पर जाकर अपनी आवेदन संख्या भरकर जा सकता है।

Online UHBVN New Connection 

How to Know Status of Application Online

अगर आपने उत्तर प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी One District One Product Scheme के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन  किया हैं  और अपने आवेदन की स्थिति कुछ जानना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें-

  • One District One Product Scheme के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन की स्थिति  जानने के लिए सर्वप्रथम आवेदन कर्ता को ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।  जहां  ऑफिशियल वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • ऑफिशियल वेबसाइट पर नेवीगेशन मेनू में दिए गए ऑप्शन “अप्लाई ऑनलाइन” पर अपना माउस ले जाएं।  माउस ले जाते ही आपको ओडीओपी मार्जिन मनी स्कीम  व ODOP Traning and Toolkit Scheme ऑप्शन दिखाई देंगे अगर आपमार्जिन मनी स्कीम मैं आवेदन करना चाहते हैं, तो ओडीओपी मार्जिन मनी स्कीम के लिंक पर क्लिक करें।
  •  अगर आप ओडीओपी ट्रेनिंग एंड टूल किट की के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो ओडीओपी ट्रेनिंग एंड टूल किट स्कीम  के लिंकपर क्लिक करें।  दोनों परिस्थिति में आपको नए  पेज पर रीडायरेक्ट कर  दिया जाएगा।
  • नए पेज पर अपनी One District One Product Scheme का चयन करें और उसके सामने दिए गए ऑप्शन आवेदन करें पर क्लिक करें।  आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • लॉगइन सेक्शन के नीचे दिए गए आवेदन स्थिति सेक्शन में अपने आवेदन संख्या निर्धारित कॉलम में भरें।  इसके बाद अपने आवेदन की स्थिति जाने के ऑप्शन पर क्लिक करें।  आप  सिस्टम पर आपके आवेदन की  डिटेल्स  दिखाई देगी।

Important Download Links 

उत्तर प्रदेश सरकार की One District One Product Scheme से संबंधित विभिन्न प्रकार की सामग्रियों को निम्नलिखित डाउनलोड लिंक पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं: –

  •  ODOP Book                                            Download
  • Coffee Table Book                                  Download 
  • ODOP Booklet Archive                         Download 
  • Application Forms                                 Download 
  • Newsletter                                               Download 
  • Success Stories                                       Download 

FAQs Related to ODOP Scheme 

Q. 1: क्या One District One Product Scheme के अंतर्गत आवेदन करने के लिए कोई आयु सीमा निर्धारित है?

Ans:  हां अगर कोई व्यक्ति One District One Product Scheme के अंतर्गत आवेदन करना चाहता है तो उसकी आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होने अनिवार्य है।

Q. 2: अगर किसी आवेदक को  वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट योजना से संबंधित शंका है तो उसके समाधान के लिए वह किसके पास संपर्क कर सकता है?

Ans:  अगर किसी व्यक्ति को One District One Product Scheme से संबंधित कोई संदेह है तो वह टोल फ्री नंबर 1820 180 888 पर संपर्क कर सकता है। साथ ही अधिक जानकारी के लिए  अपने नजदीकी  डी. आई. सी. से  संपर्क कर सकता है।

Q. 3: One District One Product Scheme के अंतर्गत क्या महिलाओं के लिए कोई विशेष योजना है?

Ans:  नहीं अभी तक इस संबंध में महिलाओं के लिए कोई विशेष योजना नामित नहीं की गई है, फिर भी कोई महिला उद्यमी स्टैंड अप इंडिया योजना के अंतर्गत मिलने वाले लाभों के लिए आवेदन कर सकती हैं।

Q. 4: One District One Product Scheme के अंतर्गत विभिन्न जनपदों से कौन-कौन से उत्पाद चयनित किए गए हैं उनकी सूची क्या है?

Ans: इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक जनपद से उसके  प्रतिष्ठित उत्पाद को शामिल किया गया है अगर आप इन उत्पादों की लिस्ट देखना चाहते हैं तो List of Selected District Wise Product under ODOP Schmen लिंक पर क्लिक करें।

Q. 5: अगर मेरा उत्पाद किसी दूसरे जनपद  के उत्पाद में सूचीबद्ध है तो क्या मैं  One District One Product Scheme का लाभ अन्य डिस्ट्रिक्ट से उठा सकता हूं।

Ans:  नहीं,  इस योजना के लाभ केवल उन्हीं आवेदकों को दिए जाते हैं जो जनपद वार उत्पादों की सूची में दर्ज उत्पाद में शामिल है।

Q. 6: One District One Product Schemeके अंतर्गत किसी एक परिवार में कितने सदस्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं?

Ans:  One District One Product Scheme के अंतर्गत एक परिवार से केवल एक ही सदस्य इस योजना का लाभ उठा सकता है।  यहां परिवार से आज से पति व पत्नी से निर्मित परिवार से हैं।

Q. 7: यदि किसी व्यक्ति ने केंद्र सरकार या राज्य सरकार के अधीन किसी अन्य योजना से लाभ प्राप्त किया है तो क्या वह है वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट योजना के अंतर्गत ऋण या लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकता है?

Ans:  यदि किसी व्यक्ति ने किसी अन्य सरकारी योजना के तहत पूर्व में ऋण प्राप्त कर लिया है, तो वह वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट योजना के लिए आवेदन करने का पात्र नहीं है।  फिर भी अधिक जानकारी के लिए विभाग के विशिष्ट योजना का अच्छे से अवलोकन करें।

Q. 8: यदि One District One Product Scheme के अंतर्गत संबंधित अधिकरण (DIC) द्वारा आवेदक    का रेन स्वीकार कर लिया जाता है, लेकिन  यदि बैंक ऋण देने से मना करता है, तो उस परिस्थिति में आवेदक को क्या करना चाहिए?

Ans: सबसे पहले आवेदक को इस संबंध में बैंक के मैनेजर से मिलकर ऋण देने से मना करने का कारण जानना चाहिए।  यदि इस संबंध में संतोषजनक उत्तर नहीं मिलता है तो बैंकिंग प्रमुख से सहायता ली जा सकती है।  बैंक प्रमुख द्वारा इसके संबंध में की गई हर शिकायत का हर संभव निवारण किया जाएगा।  इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए RBI (Reserve Bank of India) लिंक पर जाकर अवलोकन करें।

India Ration Card 

Conclusion –

One District One Product Scheme उत्तर प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक है जिसके अंतर्गत राज्य सरकार राज्य के विभिन्न जन पदों में विख्यात विभिन्न स्थानीय उत्पादों को उन्हें पैदा करने वाले शिल्पकार हो या कामगारों को उचित प्रशिक्षण वह ऋण सहायता प्रदान कर  आधुनिकीकरण व विज्ञापन के माध्यम से विश्व स्तर पर विख्यात कर उनकी बाजार मांग को बढ़ाया जा रहा है।  जिससे जन पद स्तर पर रोजगार के स्तर को बढ़ाया जा सके।  इसके लिए राज्य सरकार ने सन 2018-19 के बजट में लगभग 250 करोड रुपए को मंज़ूर किया था। One District One Product Scheme के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा ना केवल इन उत्पादों  के उत्पादन में वृद्धि की जा रही है बल्कि इन्हें पुनर्जन्म भी दिया जा रहा है। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार ना केवल कामगार व शिल्पकारों को ऋण प्रदान कर रही है बल्कि उन्हें अपने कार्य में दक्षता प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण भी प्रदान करती है।

Also Read – Haryana Ration Card Online Apply 

Spread the love
  • Post author:
  • Post category:CENTRAL SCHEME
  • Post comments:8 Comments
  • Post last modified:December 20, 2020
  • Reading time:5 mins read

This Post Has 8 Comments

Leave a Reply

One District One Product Scheme Online Apply