eGRAS-Government Receipt Accounting System क्या है?

8
1265
eGRAS-Government Receipt Accounting System क्या है?

eGRAS-Government Receipt Accounting System क्या है?

क्या आप जानते है कि eGRAS-Government Receipt Accounting System क्या है?  अगर आप इसके बारे में नही जानते है, तो कोई बात नही आज मैं आप लोगो को इसी विषय पर विस्तार से बताने जा रहा हूँ। e-GRAS, भारत में विभिन्न राज्य सरकारो के द्वारा Mission Mode Project के अन्तर्गत e-Governance की पहल के तौर पर एकीकृत वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (Integrated Financial Management System) का एक हिस्सा है। eGRAS राज्य सरकार को online और Manual दोनो तरीको से कर या गैर कर राजस्व को एकत्रित करने की सुविधा देता है।

साधारण शब्दो मे कहा जाए, तो यह सरकारो का धन संग्रहण का एक Online तरीका है। जो धन जमा करने वाले को कुछ सुविधाएँ प्रदान करता है। अगर आपको किसी राज्य सरकार को टैक्स या किसी अन्य प्रकार का राजस्व देय जमा करना है, तो यह System आपको online or offline जमा कराने की सुविधा देता है।

eGRAS का पूरा नाम क्या है?

क्या आप eGRAS का पूरा नाम जानते है? शायद आप eGRAS का पूरा मतलब नही जानते होगें। यह एक प्रकार का धन संग्रह करने का Online माध्यम है। eGRAS का पूरा मतलब या eGRAS की Full Form – electronic Government Receipts Accounting System (e-GRAS) है।  EGRAS Haryana को EGRAS HRY के नाम से भी जाना जाता है।

eGRAS-Haryana क्या है?-

eGRAS-Government Receipt Accounting System Haryana, हरियाणा राज्य सरकार द्वारा दिनांक 12.12.2013 को Mission Mode Project के अन्तर्गत e-Governance की पहल के तौर पर एकीकृत वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (Integrated Financial Management System) का एक हिस्सा है। इस System में जमाकर्ता Cash/Cheque/DD द्वारा पैसे जमा करवाने के लिए चालान बना सकता है और इसके लिए उसे खजाना कार्यालय में जाने की आवश्यकता नही है।

अगर किसी व्यक्ति या कार्यालय प्रतिनिधि को eGRAS के माध्यम से कोई भी सरकारी रसीद सरकार के खाते में जमा करानी है, तो वह www.hrtreasuries.gov.in or www.egrashry.nic.in वाले किसी भी लिंक पर जाकर तथा चालान से सम्बंधित विवरण भरकर रसीद submit कर सकता है। इसके साथ ही उस जमा रसीद की इस System के माध्यम से Print Out Copy भी ले सकता है।

अब किसी भी व्यक्ति या कार्यालय प्रतिनिधि को manual challan ‘ट्रेजरी या बैक में भेजने की जरूरत नही है और ना ही eGRAS System के द्वारा जारी किये गये चालान को सम्बंधित खाना अधिकारी से हस्ताक्षर कराने की जरूरत है। अब किसी भी व्यक्ति या कार्यालय प्रतिनिधि को खजाना या उप खजाना कार्यालय में चालान verification के लिए जाने की कोई आवश्यकता नही है। बल्कि सीधे बैंक में ही Challan की print out copy प्रस्तुत करके सरकार के खाते में सरकारी रसीद जमा करवा सकते है।

अगर किसी User के द्वारा गलत Scheme में receipt जमा करवा दी जाती है, तो User Gms ठीक करना सकता है। इसके लिए उसे दो दिनो के अन्दर ठीक  करवा सकता है। सबसे पहले User को अपना Status Check करना होगा और सम्बंधित जिला खजाना अधिकारी या सहायक खजाना अधिकारी से सम्पर्क कर लिखित में इससे सम्बंधित अनुरोध करना होगा। उसके बाद सम्बंधित अधिकारी उसे अपनी User ID & Password का प्रयोग करके ठीक कर सकता है।

अगर सम्बंधित चालान का Account इस प्रक्रिया से पहले ही Cyer Treasury Officer Chandigarh द्वारा AG Haryana को प्रस्तुत हो चुका होगा, तो वह खजाना अधिकारी इस चालान की Scheme ठीक नही कर पायेगा। इस स्थिति में जिला खजाना अधिकारी लिखित में Cyber Treasury Officer Chandigarh को चालान की Scheme ठीक करने का अनुरोध करेगा।

Hayrana eGRAS में User Challan entry page पर particular column का प्रयोग कर Challan से सम्बंधित Information अधिकतम 200 शब्दो में टाईप कर सकता है। यह Information User को preprinted electronic challan में भी Show करेगा। जैसे अगर कोई User GPF खाते में AG Haryana विभाग में राशि जमा कराने हेतू चालान बना रहा है, तो वह उसमें कुल राशि में कितनी राशि GPF Subscription में और कितनी राशि GPF Advance के रूप में जमा करवाना चाहता है। इसके अलावा समय, किश्त संख्या आदि की जानकारी दे सकता है।

eGRAS की विशेषताएँ क्या है?

eGRAS-Government Receipt Accounting System, Haryana की निम्नलिखित विशेषताएं है –

  • जमाकर्ता के द्वारा राज्य सरकार की जिस Scheme में सरकारी रसदी जमा करानी है, वह ठीक उसी Scheme में सही department में पहुँच जाती है।
  • इस System के माध्यम से जमा करता अपने घर बैठे ही online banking द्वारा सरकारी रसीद जमा करवा सकेगा।
  • अगर किसी जमाकर्ता को online banking नही आती है, तो भी वह manual option का प्रयोग करके preprinted electronic challan तैयार कर सकता है और चुनिंदा बैक में cash/cheque/DD के द्वारा सरकारी रसीद जमा करा सकता है।
  • जमाकर्ता को अब चालान verify कराने के लिए ट्रेजरी कार्यालय जाने की आवश्यकता नही है।
  • अब जमाकर्ता के पास एक से अधिक बैंक में सरकारी रसीद जमा करने की सुविधा है। वह अपनी सुविधानुसार अपने चुनिंदा बैंक का प्रयोग कर सकता है।
  • इस System में सम्बधित विभाग व खजाना कार्यालय के पास सरकारी रसीद से सम्बंधित MIS reports उपलब्ध होती है।
  • EGRAS System में कोई भी User एक बार में अधिकतम 9 Scheme में Receipt जमा करा सकता है। लेकिन इसके लिए जरूरी है कि उन सब Scheme का Head एक ही हो।

eGRAS Haryana का प्रयोग कौन कर सकता है?

हरियाणा सरकार के eGRAS-Government Receipt Accounting System में चालान Generate करने के लिए तीन प्रकार के User Options की सुविधा दी गई है। जो इस प्रकार है –

  • DDO User : – इस option में किसी भी विभाग का DDO (Checker) अपना user name & password प्रयोग करते हुए सरकार के खाते में राशी जमा कराने के लिए Challan Generate कर सकता है। यह Option केवल और केवल सरकारी विभागो के प्रयोग के लिए है।
  • Registered User: – जिन लोगो को हरियाणा सरकार के खाते में लगातार राशी जमा करानी होती है, वे registered User के तौर पर अपने आपको register करते है। जैसे किसी Firm को regularly base पर किसी particular scheme में commercial tax आदि जमा करवाना होता है, तो वे अपने लिए user name register करेगें।
  • Guest User: – इस Option का प्रयोग वे user कर सकते है, जो कभी कभार ही हरियाणा सरकार के खाते में चालान के द्वारा कोई राशी जमा कराते है। जैसे अगर हरियाणा सरकार ने किसी नौकरी के लिए विज्ञापन निकाला और उसमे प्रतिभागी को कुछ पैसे Exam Fee के तौर पर जमा कराने है, तो वह इसके लिए तीसरे Option Guest User का इस्तेमाल कर सकता है। जिसके लिए आपका User name & Password दोनो ही guest होगा। इसका प्रयोग करके कोई भी हरियाणा सरकार के खाते में पैसा जमा कराने से सम्बंधित चालान Generate कर सकता है।

eGRAS Haryana में Registered User Password कैसे Reset करे?

अगर registered user अपना Password भूल जाता है, तो आप अपना दौबारा से Password reset कर सकते है। इसके लिए निम्न Steps को Follow करना होगा।

Step 1:  सबसे पहले आपको Login Page पर जाना होगा। इसके लिए आपको http://www.hrtreasuries.gov.in/ or https://egrashry.nic.in/ link में से किसी एक Link पर जा कर Click करना होगा।

eGRAS (Government Receipt Accounting System) क्या है?

Step 2: जैसे आप Login page पर आते है, तो login page पर आपको Forget Password का लिंक या Option मिलेगा।

eGRAS (Government Receipt Accounting System)

Step 3: जब आप Forget Password के Option पर Click करेगें, तो आपके पास एक नया पेज खुलेगा। इसमें आपको अपनी Login ID डालनी है। उसके बाद आपको नीचे दिये गये digits को हल करके उसका परिणाम कॉलम में भरना है तथा Submit पर Click करना है।

eGRAS (Government Receipt Accounting System)

Step 4:  जैसे आप Submit पर Click करते है, तो आपके पास एक नया Page आयेगा जिसमें आपको अपना Security Question जो आपने ID Generate करते समय बनाया था, भरना होगा। जैसे ही आप वह भरकर Submit करेगें। आपके पास Password Reset करने का Option आ जाऐगा।

Step 5: अब आप अपना नया Password Generate कर सकते है।

क्या EGRAS के माध्यम से Non Judicial Stamp Paper खरीदा जा सकता है?

कोई भी User हरियाणा सरकार के eGRAS-Government Receipt Accounting System के माध्यम से किसी भी प्रकार का Non Judicial Stamp Paper Purchase कर सकता है। लेकिन Stamp खरीदते समय निम्नलिखित बातो का ध्यान रखना चाहिए – Non Judicial Stam Paper को दो प्रकार से बांटा गया है। (1) 10,000/- राशि तक के (2) 10,000/- राशि से अधिक के।

यदि User 10,000/- राशि तक का Non Judicial Stamp Paper खरीदना चाहता है, तो वह इसे सीधे ही Stamp Vendor से खरीद सकता है। जिसके लिए User को किसी प्रकार का चालान बनाने की आवश्यकता नही है। यदि कोई User 10,000/- से अधिक के Non Judicial Stamp Paper खरीदना चाहता है, तो वह खजाना कार्यालय या SBI Bank की Authorized Branch से खरीद सकता है।

eGRAS में GNA क्या होता है?

eGRAS Haryana  में  GNA का Full Form Government Receipt Number होता है। जब भी कोई User receipt जमा कराने के लिए Challan Generate करता है, तो प्रत्येक चालान पर एक GNA नम्बर अंकित होता है। यह Unique नम्बर होता है, जो हर चालान का अलग- अलग होता है।

GNR क्या है

User की Government receipt भी इसी GNR Number पर ही आधारित होती है। User जब भी अपने चालान के बारे में कोई जानकारी मांगता है, तो उसे इस GNR नम्बर की आवश्यता होगी।

eGRAS System में Generate किये गये Challan को कैसे देखा जा सकता है?

eGRAS System के माध्यम से यह सुविधा आपको Login Page पर ही उपलब्ध करायी गयी है। इसके लिए आपको सबसे पहले अपना GNR No. भरना होगा और Get Status Button पर Click करना होता है। जैसे ही वह Click करता है, तो उसे Challan का Status, Deposit Date & Voucher No. आदि की Detail आपके सामने आ जाऐगी। यहाँ पर User को चालान का Status Pending, Success, Account Prepare के तौर पर प्राप्त होता है।

  • Pending- इससे अभिप्राय है कि प्रयोगकर्ता ने अभी तक चालान के पैसे जमा नही कराये है या फिर यह भी हो सकता है कि जिस बैंक में User ने पैसा जमा कराया था, उस ब्रांच ने अभी तक Data Upload नही किया है। वैसे सरकार के निर्देशानुसार हर बैंक को अगले दिन 11 बजे तक Data Upload करना होता है।
  • Success- अगर User के द्वारा जमा कराये गये पैसे की Detail Bank के द्वारा upload कर दी जाती है, तो System, User के चालान का Status Success Show करता है। अब अगर User कोई Stamp Paper खरीदना है, तो वह Success Status के बाद Treasury से खरीद सकता है।
  • Account Prepare- अगर किसी User के Challan का Status Account Prepare आता है, तो उसका अर्थ यह है कि सम्बंधित चालान का Cyber treasury Chandigarh द्वारा उसका account prepare कर लिया गया है तथा AG Haryana को रिपोर्ट भी भेज दी गयी है।

e-GRAS Haryana में Major Head का चयन कैसे करे?

User EGRAS में Login करके Payee Profile Page पर Select Category पर Click करेगा। वहाँ से relevant type of payment का चुनाव करेगा। जैसे किसी User को Non-Judicial Stamp Paper के पैसे जमा करवाने है, तो user को Select Category कॉलम में से Non Judicial Stamp Paper को Select करना होगा। इसके बाद Select purpose of payment कॉलम पर Click करके relevant purpose स्लैक्ट करेगा तथा Submit बटन पर Click करेगा। जिससे User को correct scheme दिखाई देने लगेगी।

अगर इस प्रकार सफलता नही मिले, तो इसी Page पर Back पर क्लिक करे और विभाग का नाम select करे तथा उससे सम्बधित Major Head Select कर उससे सम्बंधित Scheme का चुनाव करे। अगर User को जिस विभाग में Govt. Receipt जमा करानी है उसके Head का नही पता तो, सम्बंधित किसी भी जिला स्तर या ब्लॉक स्तर कार्यालय से सम्पर्क करके Major Head Scheme के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है। जिसमें उसे receipt जमा करानी है।

क्या कोई User Haryana eGRAS में Challan के साथ Extra Details भर सकता है?

Haryana eGRAS System में अगर user चाहे, तो वह चालान के साथ Extra Detail/information जोड सकता है। इसके लिए User को Add More details के button पर click करना होगा।

eGRAS Haryana

Add More Details बटन पर Click करने पर नया Page खुल जाऐगा। जहाँ पर New Add Details का Option होगा। जिसपर Click करते ही System User से Row & Column की संख्या के बारे में पूछेगा। आप जितने Column व Row भरेगें उतने ही Column व Row की Table आपके सामने बनकर आ जाऐगी। अब इसमें अपनी additional information भर कर save कर सकते है। यह जानकारी उस चालान में Add हो जाऐगी।

eGRAS Haryana

अगर user इस अतिरिक्त जानकारी का print out लेने चाहता है, तो वह View Extra Detail वाले Button जो Challan print Button के साथ होगा, पर Click करेगा। य़हाँ से User उसकी Print out Copy निकाल सकता है।

eGRAS-Government Receipt Accounting System

eGRAS Rajasthan क्या है?

eGRAS-Government Receipt Accounting System, Rajasthan, राजस्थान राज्य सरकार द्वारा Mission Mode Project के अन्तर्गत e-Governance की पहल के तौर पर एकीकृत वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (Integrated Financial Management System) का एक हिस्सा है। इस System में जमाकर्ता Cash/Cheque/DD द्वारा पैसे जमा करवाने के लिए चालान बना सकता है और इसके लिए उसे खजाना कार्यालय में जाने की आवश्यकता नही है।

अगर किसी व्यक्ति या कार्यालय प्रतिनिधि को eGRAS के माध्यम से कोई भी सरकारी रसीद सरकार के खाते में जमा करानी है, तो वह www.egras.raj.nic.in वाले लिंक पर जाकर तथा चालान से सम्बंधित विवरण भरकर रसीद submit कर सकता है। इसके साथ ही उस जमा रसीद की इस System के माध्यम से Print Out Copy भी ले सकता है।

eGRAS Jharkhand क्या है?

Government Receipts Accounting System (E-GRAS) Jharkhand, झारखण्ड राज्य सरकार द्वारा Mission Mode Project के अन्तर्गत e-Governance की पहल के तौर पर एकीकृत वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (Integrated Financial Management System) का एक हिस्सा है। इस System में जमाकर्ता Cash/Cheque/DD द्वारा पैसे जमा करवाने के लिए चालान बना सकता है और इसके लिए उसे खजाना कार्यालय में जाने की आवश्यकता नही है।

अगर किसी व्यक्ति या कार्यालय प्रतिनिधि को eGRAS के माध्यम से कोई भी सरकारी रसीद सरकार के खाते में जमा करानी है, तो वह https://finance-jharkhand.gov.in वाले लिंक पर जाकर तथा चालान से सम्बंधित विवरण भरकर रसीद submit कर सकता है। इसके साथ ही उस जमा रसीद की इस System के माध्यम से Print Out Copy भी ले सकता है। 

eGRAS Maharashtra क्या है?

Government Receipts Accounting System (E-GRAS) Maharashtra, महाराष्ट्र राज्य सरकार द्वारा Mission Mode Project के अन्तर्गत e-Governance की पहल के तौर पर एकीकृत वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (Integrated Financial Management System) का एक हिस्सा है। इस System में जमाकर्ता Cash/Cheque/DD द्वारा पैसे जमा करवाने के लिए चालान बना सकता है और इसके लिए उसे खजाना कार्यालय में जाने की आवश्यकता नही है।

अगर किसी व्यक्ति या कार्यालय प्रतिनिधि को eGRAS के माध्यम से कोई भी सरकारी रसीद सरकार के खाते में जमा करानी है, तो वह https://gras.mahakosh.gov.in/ वाले लिंक पर जाकर तथा चालान से सम्बंधित विवरण भरकर रसीद submit कर सकता है। इसके साथ ही उस जमा रसीद की इस System के माध्यम से Print Out Copy भी ले सकता है।

मुझे विश्वास है कि आपने मेरा उपरोक्त लेख “eGRAS-Government Receipt Accounting System क्या है? ” अवश्य पंसद किया होगा। मेरी कोशिश  है कि मैं आप लोगो को हिन्दी भाषा में उचित जानकारी दूँ। उसी को अपना ध्येय मानकर  “eGRAS-Government Receipt Accounting System) क्या है?” विषय पर मैने आपके लिए गहन अध्ययन करके यह लेख लिखा है। मुझे विश्वास है कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपको किसी अन्य लेख को पढ़ने की आवश्यकता नही होगी।

प्रिय पाठको, मैने अपनी और से ध्यान रखा है कि आपको eGRAS  के सम्बंध में सही सही जानकारी के साथ  सम्पूर्ण जानकारी मिले। ताकि किसी अन्य लेख को पढ़े बिना ही आपकी Query पूरी हो जावे। जिससे आपका समय बचे। अगर फिर भी आपका इस पोस्ट के सम्बंध में कोई सवाल है, तो मुझे Comments में लिखे। आपके comments का इंतजार रहेगा।

प्रिय पाठको अगर आपको इस पोस्ट को पढकर कुछ फायदा हुआ है तो  इस पोस्ट को अपने दोस्तो, रिश्तेदारो को Social  Platform  Facebook, Twitter के साथ साथ अन्य दूसरे Social Networks site पर share करे।

आपको यह भी अवश्य पढना चाहिए-