ई रक्तकोष क्या है, अपने नजदीकी ब्लैड बैंक के बारे में कैसे जाने?

ई रक्तकोष पोर्टल | e raktkosh | e-raktkosh | e raktkosh login |e raktkosh| portal | e raktkosh portal login | ई रक्तकोष

4th May 2021 by Guru R P 

ई रक्तकोष – E raktkosh एक केंद्रीयकृत ब्लड बैंक मैनेजमेंट सिस्टम है,जिसकी शुरुआत 7 अप्रैल 2016 को तत्कालीन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री जगत प्रकाश नड्डा की थी। e-RaktKosh Digital India मुहिम का ही एक हिस्सा है e RaktKosh ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट  के अंतर्गत राष्ट्रीय रक्त नीति  मानकों तथा दिशा निर्देशों जैसे  उचित संग्रह और दान,  प्रभावी प्रबंधन तथा दान किए गए रक्त की गुणवत्ता और मात्रा की निगरानी आदि को सुनिश्चित किया जाता है। 

E-raktkosh के राष्ट्रीय स्तर पर महत्व को देखते हुए e-raktkosh को मॉडलर तथा  स्केलेबल दृष्टिकोण के साथ  विकसित किया गया है,  जिसका राष्ट्रव्यापी हित धारकों की विशेष आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए  कस्टमाइजेशन किया जा सकता है। E Raktkosh अवधारणा के अंतर्गत पूरे भारत के ब्लड बैंकों को कनेक्ट, डिजिटलाइज तथा ट्रिमलाइन किया गया है। 

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने eRaktKosh योजना के क्रियान्वयन के लिए e-RaktKosh Portal की स्थापना की है जिस की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से  रक्त से संबंधित विभिन्न सुविधाएं प्राप्त की जा सकती हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से e-raktkosh से संबंधित तमाम पहलुओं के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की जाएगी। अगर आप e-RaktKosh Portal के संबंध में तमाम जानकारी अर्जित करना चाहते हैं तो इस पोस्ट को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Key Highlights of E-Raktkosh Portal

पोर्टल का नामe-RaktKosh Portal (E Raktkosh Portal)
पोर्टल की शुरुआत श्री जगत प्रकाश नड्डा ( तत्कालीन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण  मंत्री)
पोर्टल शुरुआत की तिथि7 अप्रैल 2016
संबंधित मंत्रालयस्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार
पोर्टल का उद्देश्यरक्त की अनावश्यक बर्बादी को रोकते हुए  रक्त की सुरक्षित एवं पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करना।
मोबाइल ऐपई रक्तकोष मोबाइल एप्लीकेशन (e Raktkosh Mobile App) 
लाभार्थीभारत के नागरिक
आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें
अधिकारी की मेल आईडी[email protected] 

परिवहन ई चालान का ऑनलाइन भुगतान कैसे करे?

ई रक्त कोष के उद्देश्य

E-raktkosh को शुरू करने के पीछे भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय मुख्य उद्देश्य जरूरतमंद व्यक्ति को रक्त के सुरक्षित एवं पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए की गई थी, जिससे रक्त के अभाव में किसी व्यक्ति की जान ना जाए।  इसके साथ साथ रक्त की अनावश्यक बर्बादी को रोकते हुए पेशेवर रक्त देने वालों पर अंकुश लगाना भी  e-RaktKosh  का मुख्य उद्देश्य है। ई रक्त कोष की स्थापना के पीछे अन्य कई उद्देश्य छिपे हुए हैं जो निम्नलिखित है।

  • रक्त की सुरक्षित एवं पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करना।
  • टर्नअराउंड समय में कमी लाना।
  • रक्त की अनावश्यक बर्बादी को रोकना। 
  • पेशेवर रक्त देने वालों पर अंकुश लगाना।
  •  ब्लड बैंकों की  नेटवर्किंग को  सुधारना।
  • रक्त दान करने वालों का  डाटा तैयार करना।

ई रक्त कोष की विशेषताएं

E-raktkosh  भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक अत्यंत महत्वपूर्ण पहल है।  यह एक प्रकार की वेब आधारित एप्लीकेशन है जिसके माध्यम से  रक्त से संबंधित सूचनाओं को प्राप्त किया जा सकता है।  e-raktkosh की निम्नलिखित विशेषताएं हैं।

  • यह एक  वेब आधारित एप्लीकेशन है।
  •  eRaktkosh को आधार के द्वारा लिंक किया गया है।
  • डिसीजन सपोर्ट पर आधारित है।
  •  e Raktkosh पर इंप्लीमेंटेशन दिशा निर्देश समाहित हैं।
  •  E RaktKosh डैशबोर्ड ।
  • वैधानिक रिपोर्ट। 

ई रक्त कोष के प्रमुख घटक 

E-Raktkosh-Portal

E-raktkosh को रक्तदान जीवन चक्र के प्रबंधन के लिए प्रमुख 6 घटकों पर तैयार किया गया है, जो इस प्रकार हैं।  

  • बायोमेट्रिक डोनर मैनेजमेंट सिस्टम के माध्यम से  रक्त देने वाले  व्यक्ति के स्वास्थ्य और  पूर्व में   रक्त देने के रिकॉर्ड के आधार पर पहचान, ट्रैकिंग और ब्लॉकिंग सुनिश्चित करना।
  • परिभाषित प्रक्रिया और नियमों के अंतर्गत  ब्लड ग्रुपिंग,  टीटीआई स्क्रीनिंग, एंटीबॉडी स्क्रीनिंग  तथा कंपोनेंट प्रिपरेशन आदि की सुविधा।
  • राष्ट्रीय स्तर पर ब्लड बैंकों में रक्त के स्टॉक पर नजर रखने के लिए केंद्रीकृत रक्त इन्वेंटरी प्रबंधन व्यवस्था। 
  • प्रक्रिया के अंतर्गत पैदा होने वाले अन्य Waste तथा रक्त के Disposal के लिए बायोमेट्रिक वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम।
  • दुर्लभ रक्त समूह वाले व्यक्तियों तथा रेगुलर रक्तदान करने वालों का डाटा रजिस्ट्रेशन सिस्टम।
  • अलर्ट एवं नोटिफिकेशन सिस्टम। 

ई डोनेशन के प्रकार

मानव शरीर में लगभग 5 लीटर रक्त होता है, जो कई महत्वपूर्ण घटकों  जैसे संपूर्ण रक्त, प्लेटलेट्स और प्लाज्मा से बना हुआ होता है।  रक्त के इन विभिन्न घटकों का चिकित्सा उपयोग में अलग अलग महत्व होता है। प्रकार के चिकित्सा उपचारों में इन घटकों का उपयोग किया जा सकता है। 

Whole Blood – रक्तदान करने वाले व्यक्ति से प्राप्त होने वाले ब्लड को ही संपूर्ण रक्त कहा जाता है।  रक्तदान के बाद आमतौर पर लाल रक्त कोशिकाओं, प्लेटलेट्स और प्लाज्मा को अलग कर लिया जाता है। रक्तदान 18 साल से अधिक तथा 60 वर्ष से कम आयु का ऐसा स्वस्थ व्यक्ति कर सकता है जिसका वजन 45 किलोग्राम  या उससे अधिक हो।  

Whole-Blood-ई-रक्तकोष

Whole Blood को पेट की बीमारी, गुर्दे की बीमारी, चोट कैंसर, रक्त संबंधी रोग, हीमोफीलिया, एनीमिया, हृदय रोग,  प्रसव,  ऑपरेशन तथा खून की कमी आदि में इस्तेमाल किया जा सकता है। लाल रक्त कणिकाओं को  42 दिनों तक स्टोर किया जा सकता है।  रक्तदान करने में करीब 15 मिनट लगते हैं।  कोई भी  स्वस्थ व्यक्ति 12 सप्ताह बाद दोबारा रक्तदान कर सकता है। 

Plasma – प्लाज्मा Straw  रंग का एक तरल पदार्थ होता है जिसमें  लाल रुधिर कोशिकाएं, श्वेत रुधिर कोशिकाएं  तथा प्लेटलेट्स तैरती रहती हैं। प्लाज्मा का उपयोग विभिन्न चिकित्सा परिस्थितियों के इलाज के लिए 18 विभिन्न प्रकार के चिकित्सा उत्पादों का निर्माण करने के लिए किया जाता है। प्लाज्मा का दान 18 से 70 वर्ष (पुरूष) तथा 20-70 साल (महिला) कर सकते है, जिसका वजन 50 किलोग्राम  या उससे अधिक हो तथा पिछले 2 वर्षों में सफल रक्तदान किया हो।

ई-रक्तकोष-Plasma

प्लाज्मा को गर्भावस्था, रक्त स्राव, झटका, जलन, मांसपेशियों और तंत्रिका की स्थिति, प्रतिरक्षा तथा हीमोफीलिया आदि में इस्तेमाल किया जा सकता है। प्लाज्मा को जमे होने की स्थिति में 1 वर्ष तक सुरक्षित और किया जा सकता है।   प्लाज्मा दान करने में करीब 15 मिनट लगते हैं।  कोई भी  स्वस्थ व्यक्ति 2-3 सप्ताह बाद दोबारा  प्लाज्मा दान कर सकता है। 

Platelet – प्लेटलेट्स रक्त में  घूमने वाली छोटी-छोटी प्लेट में होती है,  रक्त स्राव को कम करने में मदद करती हैं।  मलेरिया तथा कैंसर रोगियों को कम प्लेटलेट की स्थिति में दी जाती हैं।   प्लेटलेट का दान 50 किलोग्राम या उससे अधिक वजन वाला  18 से 70 वर्ष  बाला स्वस्थ व्यक्ति  जिसमें पिछले 12 महीने में एक सफल प्लाज्मा दान किया हो कर सकता है। 

ई-रक्तकोष-Plateletes

 प्लेटलेट्स को  हीमोफीलिया, कैंसर, एनीमिया पेट रोग, रक्त रोग, हृदय रोग, गुर्दे की बीमारी, ऑपरेशन, प्रसव,  रक्त की कमी,  चोट  तथा जलने आदि में इस्तेमाल किया जा सकता है।  प्लेटलेट्स को 5 दिन तक सुरक्षित रखा जा सकता है। प्लेटलेट्स डांस करने में करीब 45 मिनट लगते हैं।  कोई भी  स्वस्थ व्यक्ति 2 सप्ताह बाद दोबारा  प्लेटलेट्स दान कर सकता है। 

Virtual Court (VCourts) पर चालान कैसे भरे?

ई रक्त कोष  पोर्टल

भारत सरकार के स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय  ने E-raktkosh  अवधारणा  के सफल क्रियान्वयन के लिए सेंटर फॉर एडवांस्ड कंप्यूटिंग की सहायता से e-RaktKosh Portal की स्थापना की है।  e-RaktKosh Portal  के माध्यम से नागरिकों को विभिन्न  सेवाएं जैसे  ऑनलाइन डोनेशन रिक्वेस्ट, रक्त की उपलब्धता, नजदीकी ब्लड बैंक आदि प्रदान की गई है।  e-raktkosh की आधिकारिक वेबसाइट  https://www.eraktkosh.in/  है। E-raktkosh की आधिकारिक वेबसाइट पर निम्नलिखित  सेवाएं प्रदान की गई हैं।

  • रक्तदान करने की ऑनलाइन प्रार्थना।
  • थैलेसीमिया रिक्वेस्ट।
  • रक्त की उपलब्धता  की सूचना।
  • रक्तदान  शिविरों की आगामी तिथि की सूचना।
  • नजदीकी ब्लड बैंक की सूचना।
  • ई रक्त फंड  लॉगइन।
  • e-RaktKosh Portal लॉगइन। 
  • रक्तदान हिस्ट्री की सूचना।
  • ब्लड बैंक  को जोड़ना।

ई रक्त कोष  पोर्टल ऑनलाइन डोनेशन रिक्वेस्ट

कोई भी व्यक्ति  जो व्यक्ति रक्तदान करना चाहता है, वह अपने आपको ई रक्त पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर पंजीकृत कर सकता है और रक्तदान करने के लिए  e-RaktKosh Portal पर  रिक्वेस्ट दे सकता है। अगर आप e-RaktKosh Portal पर रक्तदान करने के लिए ऑनलाइन रिक्वेस्ट करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सर्वप्रथम e-raktkosh की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • Home Page  पर नेवीगेशन मेनू में Service  सेक्शन के दिखाई देगा।  जब आप सर्विस के लिंक पर माउस ले जाएंगे तो Submenu खुलेगा। Submenu में ‘Online Donation Request का लिंक दिखाई देगा। 
  • Online Donation Request’ के लिंक पर क्लिक करें। Online Donation Request Form  खुल जाएगा। Donor Details में  अपना नाम, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, पता, टेंटेटिव डेट  को  दिए गए फील्ड में भरें।
E-Raktkosh-Blood-Donation-Request
  • ड्रॉप डाउन लिस्ट से Gender, State, District/City, Blood Bank Name, Blood Group तथा GOI ID (Aadhar, DL, Passport, Voter ID, PAN) का चुनाव करें। 
  • Save के बटन पर Click करे। जैसे ही आप Save के बटन पर Click करते है, आपकी Request e-RaktKosh Portal पर  सफलतापूर्वक सबमिट हो जाएगी।
  • आपके द्वारा उपलब्ध कराई गई सूचना के आधार पर संबंधित  ब्लड बैंक द्वारा आपको  रक्तदान करने की तिथि से पहले संपर्क किया जाएगा।
  • इस प्रकार कोई भी व्यक्ति ई रक्तदान पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन  डोनेशन रिक्वेस्ट कर सकता है।

ई रक्त कोष  पोर्टल रक्त उपलब्धता कैसे देखें

अगर  किसी व्यक्ति को रक्त की आवश्यकता है और वह  अपने नजदीकी ब्लड बैंक में रक्त की उपलब्धता देखना चाहता है तो  वह e-RaktKosh Portal की आधिकारिक वेबसाइट पर पता कर सकता है।  e-RaktKosh Portal  की आधिकारिक वेबसाइट से रक्त की उपलब्धता का पता करने के लिए, तो नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सर्वप्रथम e-raktkosh की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • Home Page  पर नेविगेशन मेनू में Service  सेक्शन के दिखाई देगा।  जब आप सर्विस के लिंक पर माउस ले जाएंगे, तो Submenu खुलेगा। Submenu में ‘Blood Availability’ का लिंक दिखाई देगा। 
  • Blood Availability’ के लिंक पर क्लिक करें। Stock Availability Form  खुल जाएगा। Search Blood Stock सैक्शन में Drop Down List से State, District का चुनाव करे।
E-Raktkosh-Blood-Avaibality
  • Required Blood Group तथा Blood Component का Drop Down List से चुनाव करे और  सर्च  के बटन पर क्लिक करें।  
  • Search के बटन पर Click करते ही, आपके द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना के आधार पर  सात दिनो की Updated Blood Stocks की सूचनी आपकी Screen पर प्रदर्शित हो जाएगी। 
E-Raktkosh-Blood-Avaibality
  • इस प्रकार कोई भी व्यक्ति  e-RaktKosh   पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से  रक्त की उपलब्धता जांच कर  संबंधित  ब्लड बैंक से ब्लड प्राप्त कर सकते हैं।

वाहन समन्वय मोबाइल एप्लीकेशन क्या है?

ई रक्त कोष  पोर्टल नजदीकी ब्लड बैंक/ ब्लड स्टोरेज यूनिट कैसे देखें

अगर  किसी व्यक्ति को रक्त की आवश्यकता है और वह  अपने नजदीकी ब्लड बैंक अथवा  ब्लड स्टोरेज यूनिट देखना चाहता है, तो  नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सर्वप्रथम e-raktkosh की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • Home Page  पर नेविगेशन मेनू में Service  सेक्शन के दिखाई देगा।  जब आप सर्विस के लिंक पर माउस ले जाएंगे, तो Submenu खुलेगा। Submenu में ‘Nearby Blood Bank’ का लिंक दिखाई देगा। 
  • Nearby Blood Bank’ के लिंक पर क्लिक करें। Nearest Blood  Bank/Blood Storage Unit Form  खुल जाएगा। Drop Down List से State, District का चुनाव करे।
  • ‘Search’ के बटन पर क्लिक करें।  Search के बटन पर Click करते ही, आपके द्वारा चुने गए State & District के सरकारी तथा प्राइवेट अस्पतालों के Blood Banks की सूची खुल जाएगी।  
  • यहां से आप अपने नजदीकी  सरकारी अथवा प्राइवेट अस्पताल के ब्लड बैंक से संपर्क कर सकते हैं।  
  • इस प्रकार कोई भी व्यक्ति  e-RaktKosh   पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से  अपने नजदीकी सरकारी व प्राइवेट  ब्लड बैंक का पता लगा सकते हैं।

ई रक्त कोष  पोर्टल से  रक्तदान शिविर का शेड्यूल कैसे देखें

अगर  किसी व्यक्ति को ई  रक्त कोष पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से निकट भविष्य में लगने वाले रक्तदान शिविर की सूची देखना चाहता है, तो  नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सर्वप्रथम e-raktkosh की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • Home Page  पर नेविगेशन मेनू में Service  सेक्शन के दिखाई देगा।  जब आप सर्विस के लिंक पर माउस ले जाएंगे, तो Submenu खुलेगा। Submenu में ‘Camp Schedule’ का लिंक दिखाई देगा। 
  • Camp Schedule’ के लिंक पर क्लिक करें। जैसे ही आप Camp Schedule’ के लिंक पर क्लिक  क्लिक करेंगे, निकट भविष्य में लगने वाले रक्तदान शिविरों की सूची आपकी स्क्रीन पर खुल  जाएगी। 
  • इस सूची में  रक्तदान शिविर की तिथि, समय, कैंप का नाम,पता, कांटेक्ट नंबर तथा  कंडक्ट करने वाली संस्था के विवरण के साथ सूचनाएं मिलेंगे।
  • इस प्रकार कोई भी व्यक्ति  e-RaktKosh   पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से  निकट भविष्य में अपने नजदीक  लगने वाले   रक्तदान शिविरों की सूची ऑनलाइन घर से देख  सकते हैं।

ई रक्त कोष  पोर्टल डोनर लॉगिन/ रजिस्टर कैसे करें

अगर  किसी व्यक्ति को ई  रक्त कोष पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट  पर लॉगइन/ रजिस्टर करना चाहता है, तो  नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सर्वप्रथम e-raktkosh की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • Home Page  पर नेविगेशन मेनू में Service  सेक्शन के दिखाई देगा।  जब आप सर्विस के लिंक पर माउस ले जाएंगे, तो Submenu खुलेगा। Submenu में ‘My Donation का लिंक दिखाई देगा। 
  • My Donation’ के लिंक पर क्लिक करें। जैसे ही आप My Donation के लिंक पर क्लिक  क्लिक करेंगे, Donor Login Page खुल  जाएगा। 
E-Raktkosh-Login
  • अगर आप e-RaktKosh Portal पर पहले से डोनर के रूप में पंजीकृत हैं, तो  अपना Username & Password  दिए गए कॉलम में भरें।  दिए गए कैप्चा कोड को  निर्धारित फील्ड में भरेंऔर Sign In के बटन पर क्लिक करें।
  • यहां आप गूगल अकाउंट के माध्यम से भी Login कर सकते हैं।  गूगल अकाउंट से लॉगइन करने के लिए Login Page में ‘Sign in with Google’ के बटन पर क्लिक करें और लॉगिन करें
  • अगर आप  e-RaktKosh Portal पर  न्यू यूजर हैं, तो Login Page ‘Register Now’ की बटन पर क्लिक करें।  
  • जैसे ही आप ‘Register Now’   के बटन पर क्लिक करते हैं,  Donor Sign UP पेज खुल जाएगा। Register as New User or Register with Donor ID में से किसी एक विकल्प का चयन करे। 
E-Raktkosh-Registration
  • Donor Sign UP Form में Name, Date of Birth, Email Address, Pincode, Mobile Number आदि को भरे और Drop Down List से Gender, State, District का चुनाव करे। 
  • अपना Password Set करे और Confirm करे। दिए गए कैप्चा कोड को निर्धारित  फील्ड भरे और Sign UP के बटन पर Click करे। Sign UP पर Click करते ही, e-RaktKosh Portal पर पंजीकरण हो जाएगा। Registration से सम्बंधित सूचना आपके मोबाइल फोन/ ईमेल आईडी पर प्राप्त होगी।

MyGov India Portal/MyGov Mobile App क्या है?

ई रक्त कोष  मोबाइल एप्स डाउनलोड कैसे करें

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार  e-RaktKosh   पोर्टल पर उपलब्ध  सेवाओं की पहुंच आम जनता तक पहुंचाने के लिए  वेब बेस्ड एप्लीकेशन के साथ साथ   e-raktkosh मोबाइल ऐप  की शुरुआत भी की है।  e-RaktKosh मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड कर कोई भी व्यक्ति  रक्त कोष पोर्टल पर उपलब्ध कराई जाने वाली सेवाओं का  लाभ प्राप्त कर सकते हैं। अगर आप  e-RaktKosh मोबाइल ऐप को ई रक्तकोष पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से डाउनलोड करना चाहते हैं, तो  नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सर्वप्रथम e-raktkosh की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • Home Page  पर नेविगेशन मेनू में Download सेक्शन के दिखाई देगा।  जब आप Download के लिंक पर माउस ले जाएंगे, तो Submenu खुलेगा। Submenu में Mobile App का लिंक दिखाई देगा। 
  • Mobile App’ के लिंक पर क्लिक करें। जैसे ही आप Mobile App के लिंक पर क्लिक  करेंगे, e-RaktKosh Mobile Applications का Page खुल  जाएगा। जहाँ Android, Windows, iOS  e-Raktkosh Application के लिंक दिखाई देगे।
  • यहां से आप जिस भी प्लेटफार्म के लिए e-raktkosh एप्लीकेशन डाउनलोड करना चाहते हैं, उस पर क्लिक करें। 
  • अगर आप एंड्राइड मोबाइल ऐप को डाउनलोड करना चाहते हैं,  तो e-RaktKosh Android App के लिंक पर Click करे। 
  • e-RaktKosh Android App के लिंक पर क्लिक करते ही आपको गूगल प्ले स्टोर पर रीडायरेक्ट कर दिया जाएगा। Install  के बटन पर क्लिक करें, एक नया पेज खुलेगा।
  • नए पेज में   उस डिवाइस का चुनाव करें, जिसमें  e-RaktKosh एंड्राइड मोबाइल डाउनलोड करना चाहते हैं। Install के बटन पर Click करे।
  • Install के बटन पर Click करते ही, कुछ समय में  e-raktkosh एप्लीकेशन आपके मोबाइल में डाउनलोड हो जाएगी।  e-raktkosh एप्लीकेशन ओपन कर आप   e-raktkosh से संबंधित समस्त सेवाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

ई रक्त कोष  हेल्पलाइन

 अगर किसी व्यक्ति को e-raktkosh से संबंधित किसी प्रकार की शिकायत है अथवा कोई जानकारी प्राप्त करनी है तो वह e-raktkosh की  आधिकारिक ईमेल आईडी [email protected] पर अपने शिकायत अथवा Query  लिख कर भेज सकता है।  संबंधित विभाग द्वारा आपकी शिकायत अथवा Query  का समुचित जवाब दिया जाएगा। 

रक्त से जुड़े कुछ तथ्य

  • एक यूनिट रक्तदान करने से तीन लोगों की जान बच सकती हैं।
  •  व्यक्ति प्रति 3 महीने में एक बार रक्तदान कर सकता है। 
  • रक्तदान करने के बाद शरीर के तरल पदार्थों को पूरी तरह से भरने में 48 घंटे लगते हैं।
  • वैज्ञानिकों के मुताबिक मानव शरीर में रक्त की मात्रा व्यक्ति की वजह  के 8% के बराबर होती है।
  • एक  व्यस्क व्यक्ति के शरीर में 100000 मील रक्त वाहिकाएं होती है।
  • एक लाल रुधिर कणिका शरीर का पूरा सर्किट 30 सेकंड में बना सकती है।
  • श्वेत रुधिर कणिकाएं व्यक्ति के कुल रक्त का 1% होती हैं।
  • दान किए गए रक्त की लाइफ 35 से 42 दिन होती है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन की 2012 की रिपोर्ट के अनुसार विश्व में केवल 9 मिलियन यूनिट रक्त सालाना एकत्रित किया जाता है जबकि 12 मिलियन यूनिट की आवश्यकता होती है।
  •  केवल दिल्ली एनसीआर  को प्रतिवर्ष एक लाख ब्लड यूनिट की कमी का सामना करना पड़ता है।
  • 18 से 65 साल के बीच के स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है।
  • सरकारी आंकड़ों के मुताबिक  पूरे भारत में प्रतिवर्ष 234 मिलियन  प्रमुख ऑपरेशन, 63 मिलीयन    ट्रोमा संबंधी सर्जरी, एक मिलियन कैंसर संबंधित प्रोसेस  तथा 10 मिलीयन गर्भावस्था संबंधी जटिलताओं में रक्त की आवश्यकता होती है।

प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना क्या है?

FAQs Related to E-Raktkosh

Q.-1.  किसी व्यक्ति को रक्त क्यों दान करना चाहिए?

Ans- हमें रक्तदान इसलिए करना चाहिए कि 
रक्त जीवन का सार है। अगर दुनिया में सबसे कीमती कोई उपहार है, तो वह किसी को जीवनदान देना है। रक्तदान करने का मतलब भी जीवन दान देना ही है।
रक्त से लाल रक्त कोशिकाओं तथा प्लाज्मा को अलग कर एक से अधिक व्यक्तियों की जान बचाई जा सकती है।
हिमोफीलिया एवं थैलेसीमिया  के रोगियों के लिए नियमित रक्त की आवश्यकता होती है।  दुर्घटनाओं, सर्जरी, एनीमिया तथा अन्य चोटों के उपचार के लिए भी रक्त आवश्यक होता है।
रक्तदान करने से स्वास्थ्य बेहतर बनता है। 

Q.-2.  रक्तदान करने के लाभ क्या क्या है?

Ans- रक्तदान करने के निम्नलिखित लाभ हैं
रक्तदान करने वाले लोगों को दिल का दौरा पड़ने की संभावना 88% कम हो जाती है तथा किसी भी प्रकार के हृदय रोग की संभावना 33% कम हो जाती है।
रक्तदान की एक यूनिट से शरीर से 225 से 250 मिलीग्राम आयरन कम होता है, जिससे हृदय रोगों का खतरा कम होता है।
नियमित रक्तदान व्यक्ति को गंभीर बीमारियों से बचाने में मदद करता है।

Q.-3.  E-raktkosh  से संबंधित Query के लिए किससे संपर्क करें?

Ans- e-RaktKosh से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए [email protected] पर  email कर सकते है। 

Q.-4.  E-raktkosh  एप पर प्लेटलेट्स यूनिट कैसे  चेक करें?

Ans-  e-RaktKosh एप पर स्टॉक अवेलेबिलिटी पेज पर Whole Blood को डिफ़ॉल्ट रूप में दिखाया जाता है। प्लेटलेट्स यूनिट चेक करने के लिए Component Type में Platelet का चुनाव करे और Search के बटन पर Click करे। 

Q.-5.  ब्लड डोनेट करने के लिए उम्र सीमा क्या  है?

Ans-   भारत में ब्लड डोनेट करने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 18 साल है जबकि अधिकतम सीमा रक्तदान के प्रकार पर निर्भर करती है।  वैसे 18 साल से 65 साल का स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है।

Q.-6.  किसी व्यक्ति को रक्त की तुरंत आवश्यकता है तो वह किस एप्लीकेशन के माध्यम से पता कर सकता है कि ब्लड कहां मिल सकता है?

Ans-   अगर किसी व्यक्ति को ब्लड की तुरंत आवश्यकता है तो वह e-raktkosh मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड कर  e-raktkosh एप्लीकेशन की सहायता से अपने नजदीकी ब्लड बैंक में ब्लड की उपलब्धता की जांच ऑनलाइन कर सकता है।

Q.-7.  ब्लड डोनेट करने से पहले अगर मैंने अल्कोहल लिया है, तो क्या यह ठीक है?

Ans-   नहीं,  अगर किसी व्यक्ति ने  ब्लड डोनेशन करने से पहले अल्कोहल लिया जाता है।

Q.-8.  अगर किसी व्यक्ति ने एंटीबायोटिक ली है,  तो क्या वह है ब्लड डोनेट कर सकता है?

Ans-   यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने एंटीबायोटिक किस आधार पर ली है।   आप ब्लड डोनेट विशेषज्ञ डॉक्टर की सलाह पर  कर सकते है।

Q.-9.  क्या ब्लड डोनेट करने से कोई साइड इफेक्ट होता है?

Ans-    नहीं,  रक्तदान करने से किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है, जब भी आप रक्तदान करते हैं तो ब्लड बैंक स्टाफ द्वारा यह सुनिश्चित किया जाता है कि आपको किसी प्रकार का बुरा अनुभव ना हो ताकि आप रेगुलर ब्लड डोनेट करते रहें।  आपको ऐसे काफी लोग मिल जाएंगे जो पूरी उम्र में 25 से 100 बार ब्लड का दान कर चुके हैं।

Q.-10.  एक स्वस्थ व्यक्ति कितने समय बाद रेगुलर ब्लड डोनेट कर सकता है?

Ans-     प्रत्येक स्वस्थ व्यक्ति हर तीन-चार महीने में एक बार ब्लड डोनेट कर सकता है।

Q.-11.  ब्लड डोनेशन करने से पहले डोनर को क्या-क्या खाना चाहिए?

Ans-    रक्तदान करने से पहले रक्तदान करने वाला व्यक्ति घर पर नॉर्मल कुछ भी खा सकता है।   रक्तदान करने से पहले हल्की स्नेक्स तथा सॉफ्ट ड्रिंक ले  काफी है। 

Read Also: – [eNAM] National Agriculture Market Registration कैसे करे? 

Spread the love

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply