Deen Dayal Antyodaya Yojana-DAY-NRLM

638

[DAY-NRLM] दीनदयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन क्या है?

Deen Dayal Antyodaya Yojana| Day NRLM | Day NRLM Scheme | Deen Dayal Antyodaya Yojana in Hindi | Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana | Deen Dayal Antyodaya Yojana Apply Online

Deen Dayal Antyodaya Yojana (Day NRLM) :- भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (National Rural Livelihoods Mission) – Aajeevika को जून 2011 में स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना (Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana-SGSY) का पुनर्गठन करते हुए शुरू किया  था। 

सरकार इस मिशन के माध्यम से देश के 600000 गांव में रहने वाले 100 मिलियन गरीब ग्रामीणों तक  पहुंचना चाहती है। मोदी सरकार ने नवंबर 2015 में इस कार्यक्रम का नाम बदलकर दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (Deen Dayal Antyodaya Yojana- DAY-NRLM) कर दिया है। इस मिशन को विश्व बैंक की मदद से पूरा किया जा रहा है। 

Deen Dayal Antyodaya Yojana का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण गरीबों के लिए एक ऐसा कुशल और प्रभावी संस्थागत मंच तैयार करना है, जो उन्हें स्थाई आजीविका संवर्धन के माध्यम से घरेलू आय बढ़ाने और वित्तीय सेवाओं में सुधार करने में सक्षम बना सके। 

Deen Dayal Antyodaya Yojana के माध्यम से ना केवल गरीबों को आर्थिक आय  बढ़ाने में मदद मिलेगी बल्कि उन्हें अपने अधिकारों, सार्वजनिक सेवाओं, विभिन्न प्रकार के जोखिमों तथा सशक्तिकरण के बेहतर सामाजिक संकेतों तक पहुंचने में भी मदद मिलेगी। 

प्रत्येक व्यक्ति में गरीबी दूर करने की जन्मजात क्षमता होती है, जिसे नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन के माध्यम से पहचान कर उसकी उधम क्षमता /कौशल को उजागर करने की दिशा में प्रयास किया जाता है।

Key Highlights of Deen Dayal Antyodaya Yojana (DAY-NRLM)

पोर्टल का नाम  दीनदयाल अंत्योदय योजना  राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन पोर्टल
योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
योजना शुरू करने की तिथि  नवंबर 2015
संबंधित विभाग ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार
लाभार्थी भारत के ग्रामीण गरिब लोग
Objective of Portal  ग्रामीण गरीबों को अपना कौशल विकसित करने के लिए प्लेटफार्म उपलब्ध कराना। 
Designed, Developed & Maintained  by  ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार 
Official website Click Here
Twitter Handle Click Here

JVVNL Bijli Mitra क्या है? 

Deen Dayal Antyodaya Yojana- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन अपडेट

  • भारत सरकार  के केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जम्मू एंड कश्मीर तथा लद्दाख केंद्र शासित प्रदेशों के लिए 5 साल की अवधि के लिए Deen Dayal Antyodaya Yojana – नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन के अंतर्गत 520 करोड का स्पेशल पैकेज मंजूर किया है। 
  • भारत सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर एंड लद्दाख के लिए यह पैकेज   वित्तीय वर्ष 2023-24 तक  5 साल के लिए किया है। 
  • भारत सरकार ने योजना की विस्तारित अवधि के दौरान गरीबी के अनुपात के साथ आवंटन को जोडे बिना, मांग के आधार पर वित्तीय सहायता उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया है।
  • यह निर्णय जम्मू कश्मीर और लद्दाख में भारत सरकार द्वारा समय समय पर  प्रायोजित सभी लाभार्थी उन्मुख योजनाओं को समयबद्ध तरीके से सार्वभौमिक बनाने के लिए किया गया है। 
  • जम्मू कश्मीर एंड लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश  की लगभग दो-तिहाई ग्रामीण महिलाओं को इसमें कवर किया जाएगा और 10.58  लाख महिलाओं को विशेष पैकेज का लाभ मिलेगा।
  • यह विशेष पैकेज धारा 370 हटाने के बाद राज्य के बदली परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए ग्रामीण परिवारों और महिला सशक्तिकरण के जीवन स्तर को सुधारने की दिशा में सरकार द्वारा बढ़ाया गया कदम है ।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन

भारत सरकार द्वारा ग्रामीण विकास के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही हैं जिनमें राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन National Rural Livelihoods Mission) – Aajeevika भी एक है। इस प्रोग्राम की शुरुआत भारत सरकार ने जून 2011 में की थी। जिसका नाम नवंबर 2015 में बदलकर Deen Dayal Antyodaya Yojana-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन कर दिया गया है।  

इस मिशन का मुख्य उद्देश्य राज्य सरकारों के लिए एक ऐसा प्लेटफार्म तैयार करना है, जिससे वे अपनी आजीविका-आधारित गरीबी को घटाने की कार्य योजना तैयार करने में सक्षम हो सके। 

इस मिशन के अंतर्गत विश्व बैंक की मदद से देश के, 600 जिलों 6000 ब्लॉक को, ढाई लाख ग्राम पंचायतों, 600000 गांव में रहने वाले 7 करोड़ गरीब परिवारों को 8-10 वर्षों में शामिल करने का लक्ष्य रखा गया था।

Deen Dayal Antyodaya Yojana – National Rural Livelihoods Mission (DAY-NRLM)

भारत सरकार का दीनदयाल अंत्योदय योजना – नेशनल लाइवलीहुड मिशन गरीबों को राहत पहुंचाने वाला एक निश्चित गरीबी कार्यक्रम है,जिसे भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा आजीविका- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (Aajeevika – National Rural Livelihoods Mission -NRLM) के रूप में जून 2011 में शुरू किया गया था। जिसका नाम  बदल कर  नवंबर 2015 में दीनदयाल अंत्योदय योजना-नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन कर दिया गया है। 

Deen Dayal Antyodaya Yojana एक प्रकार से पूर्ववर्ती स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना (Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana-SGSY) का  ही उन्नत रूप है। यह कार्यक्रम विश्व बैंक द्वारा आंशिक रूप से समर्थित है। इस योजना के पीछे भारत सरकार का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण गरीबों को स्थाई आजीविका संवर्धन और वित्तीय सेवाओं तक बेहतर पहुंच के माध्यम से आय बढ़ाने में सक्षम बनाने के लिए एक प्रभावी संस्थागत मंच तैयार करना है।

इसके साथ भारत सरकार गरीबों को अधिकारों, सार्वजनिक सेवाओं और अन्य अधिकारों के लिए बेहतर पहुंच प्राप्त करने में सक्षम बनाना चाहती है। इस मिशन का अन्य ग्रामीण गरीबों में निहित क्षमताओं को पहचानते हुए उन्हें देश की अर्थव्यवस्था में भाग लेने के लिए क्षमता जैसे ज्ञान, सूचना, उपकरण,  वित्त, कौशल  और सामूहिकता से लैस करना है।

इस प्रोग्राम में 8 से 10 साल की अवधि  के अंतर्गत  स्वयं सहायता समूह और महा संघों के संस्थानों के माध्यम से देश के साथ क्रोध ग्रामीण गरीब परिवारों को कवर करने का लक्ष्य रखा गया है। भारत सरकार  के आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय द्वारा   शहरी विकास और आजीविका के लिए Deen Dayal Antyodaya Yojana-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (DAY-NULM)  भी शुरू किया गया है। 

Paymanager/Pripaymanager पर काम कैसे करे?

दीनदयाल अंत्योदय योजना (DAY-NRLM) की विशेषताएं 

  • सरकार का मुख्य  लक्ष्य यूनिवर्सल सोशल मोबिलाइजेशन के अंतर्गत ग्रामीण इलाकों में गरीब घरों की कम से कम एक महिला प्रति परिवार को स्वयं सहायता समूह ग्रुप से जोड़ना  है।
  • सामुदायिक निधि में गरीबों को भागीदारी देकर गरीबों की वित्तीय प्रबंधन क्षमता को मजबूत किया जा रहा है।
  • Deen Dayal Antyodaya Yojana नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन अपने तीन स्तंभों के माध्यम से गरीबों की मौजूदा आजीविका संरचनाओं को बढ़ावा  देने और स्थिर करने पर आधारित है।
  • योजना के माध्यम से गरीब परिवारों की मौजूदा आजीविका का विस्तार, कृषि तथा गैर कृषि आधारित क्षेत्रों में नए आजीविका के अवसरों को पैदा करना।
  • योजना के माध्यम से ग्रामीण परिवारों में रोजगार निर्माण के लिए  निर्माण कौशल को बढ़ावा देना।
  • ग्रामीण परिवार के युवाओं एवं महिलाओं को उनके कौशल को पहचानते हुए कौशल का निर्माण कर स्वरोजगार को बढ़ावा देना। 
  • यह योजना भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय के अन्य विकास उन्मुख योजनाओं के साथ अभिसरण और भागीदारी  को उच्च प्राथमिकता  देती है।
  • Deen Dayal Antyodaya Yojana पंचायती राज संस्थाओं  के साथ भी जुड़ी हुई है। 
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य विभिन्न प्रकार के आजीविका स्रोतों को बढ़ाते हुए ग्रामीण गरीबी को खत्म करना और देश भर के ग्रामीण परिवारों के लिए वित्तीय सेवाओं में सुधार करना है। 

Deen Dayal Antyodaya Yojana (DAY-NRLM) के साथ जुड़ी अन्य योजनाएं

भारत सरकार के Deen Dayal Antyodaya Yojana राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत विभिन्न  योजनाओं को शामिल किया है। इस योजना से जुड़ी हुई अन्य योजनाएं इस प्रकार हैं।

Aajeevika Grameen Express Yojana (AGEY)

  • आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना भारत सरकार द्वारा 2017 में शुरू की गई थी। 
  • इस योजना का मुख्य लक्ष्य योजना के तहत स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को आजीविका के वैकल्पिक स्रोत उपलब्ध कराना है, जिससे वे पिछड़े ग्रामीण क्षेत्रों में सार्वजनिक परिवहन सेवाओं की पेशकश कर सकें।
  • यह योजना क्षेत्र विशेष के संपूर्ण आर्थिक विकास के लिए उस क्षेत्र के दूरदराज के गांवों को जोड़ने के लिए सस्ती, सुरक्षित और सामुदायिक निगरानी वाली ग्रामीण परिवहन सेवाएं प्रदान करते हैं।

Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana (MKSP)

  • महिला किसान सशक्तिकरण योजना का मुख्य  लक्ष्य कृषि क्षेत्र में व्यवस्थित निवेश करके महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित कर उत्पादकता बढ़ाने के लिए सशक्त बनाना है।
  • इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को कृषि आधारित आजीविका बनाने और बनाए रखने का प्रयास किया गया है।
  • योजना के माध्यम से महिलाओं की प्रबंधन क्षमता को सुधारना, ग्रामीण इलाकों के घरों में भोजन और पोषण सुनिश्चित करना, सेवाओं और इनपुट में महिलाओं  को बेहतर पहुंच के लिए सक्षम बनाया जाता है।

Start-up Village Entrepreneurship Programme (SVEP)

  • स्टार्टअप विलेज   एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में स्टार्टअप को बढ़ावा दिया जा रहा है।
  • इस स्कीम के अंतर्गत  ग्रामीण क्षेत्रों के मुख्यतः तीन स्टार्टअप क्षेत्रों जैसे Knowledge, Financial & Incubation Ecosystem को बढ़ावा  दिया गया है।
  • यह योजना गरीब युवाओं के लिए स्थाई रोजगार के अवसर पैदा करती है, जिससे उन्हें बाजार के साथ प्रभावी रूप से जुड़ने में मदद मिलती है और स्थानीय स्तर पर धन पैदा करने में मदद मिलती है। 

National Rural Livelihoods Project (NRLP)

  • National Rural Livelihoods Mission (DAY-NRLM) को proof-of-concept तथा केंद्र और राज्य स्तरों पर क्षमताओं का निर्माण करने के लिए डिजाइन किया गया है, ताकि सभी केंद्र शासित प्रदेशों और राज्यों के लिए राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन को लागू करने के लिए सुविधाजनक वातावरण बनाया जा सके। 

Deendayal Antyodaya Yojana नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन हेल्पलाइन नंबर

इस पोस्ट के माध्यम से Deen Dayal Antyodaya Yojana- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन  से संबंधित तमाम पहलुओं पर  विस्तार पूर्वक विचार किया गया है।  यदि किसी व्यक्ति को योजना के संबंध में किसी प्रकार की शिकायत हैं तो वह नीचे दिए गए पते पर पत्राचार के माध्यम से संपर्क कर सकता है। 

Deendayal Antyodaya Yojana-

National Rural Livelihoods Mission (DAY-NRLM)

Ministry of Rural Development Govt of India

7th Floor, NDCC Building-II, Jai Singh Road, 

New Delhi – 011-23461708 

Deendayal Antyodaya Yojana (DAY-NRLM) संबंधित FAQs

Q-1. आजीविका स्कीम क्या है?

Ans:- आजीविका स्कीम को नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन (National Rural Livelihoods Mission- NRLM) के नाम से भी जाना जाता है। मोदी सरकार ने इसका नाम बदलकर दीनदयाल अंत्योदय  नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन स्कीम (Deen Dayal Antyodaya Yojana– National Rural Livelihoods Mission scheme) कर दिया है। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण इलाकों के गरीब परिवारों को स्थाई आजीविका बढ़ाने और वित्तीय सेवाओं के लिए बेहतर पहुंच के माध्यम से घरेलू आय बढ़ाने में सक्षम और प्रभावी संस्थागत मंच प्रदान किया गया है। 

Q-2. Deen Dayal Antyodaya Yojana को कब शुरू किया गया था?

Ans:- Deendayal Antyodaya Yojana को नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन का नाम बदलकर नवंबर 2015 में शुरू किया गया था।

Q-3. Aajeevika Grameen Express Yojana क्या है?

Ans:- आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना Deen Dayal Antyodaya Yojana -National Rural Livelihoods Mission (DAY-NRLM) के अंतर्गत शुरू की गयी उप योजना है,  जिसका उद्देश्य मूल योजना के अंतर्गत स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को आजीविका के वैकल्पिक स्रोत प्रदान करना है ताकि वे पिछड़े ग्रामीण क्षेत्रों में सार्वजनिक परिवहन सेवाओं को संचालित/ शुरू कर सकें।

Q-4. DAY-NRLM स्वर्ण जयंती स्वरोजगार योजना (SGSY) से किस प्रकार भिन्न है?

Ans:- Swarna Jayanti Swarozgar Yojana (SGSY) में “आवंटन आधारित (Allocation Based)” रणनीति को अपनाया गया है, जबकि Deendayal Antyodaya Yojana -National Rural Livelihoods Mission (DAY-NRLM) में “ड्राईवन मांग (Demand Driven)” रणनीति को अपनाया गया है।  DAY-NRLM में  कार्यक्रम को लागू करने के लिए राज्यों को अधिक स्वायत्तता प्रदान की गई है। 

NRLM राज्यों को 7 वर्षों के लिए State Perspective for Implementation Plans (SPIP) तथा सालाना कार्य योजना (Annual Action Plans- AAPs) के लिए राज्य स्तरीय परिप्रेक्ष्य तैयार करने का अवसर प्रदान करता है।  NRLM में लाभार्थियों की पहचान  के लिए नीचे BPL (Below Poor Line)  की बजाए गरीब की भागीदारी पहचान (Participatory Identification of Poor-PIP)को अपनाया है।

Q-5. DAY-NRLM का Key Features क्या है? 

Ans:-  Deendayal Antyodaya Yojana National Rural Livelihoods Mission मुख्यतः तीन स्तंभों  सार्वभौमिक सामाजिक जुड़ाव, भी और आजीविका वृद्धि पर टिका हुआ है।  इसमें स्वयं सहायता समूह नेटवर्क में सभी गरीब परिवारों से कम से कम 1 सदस्य ( मुख्यतः महिला सदस्य) को जोड़ने की दिशा में काम करता है। ये समूह अपने सदस्यों को  बचत, रेन और आजीविका सहायता जैसी सेवाओं की पेशकश करते हैं तथा उनके व्यवसाय को परिपक्वता के साथ-साथ आए पैदा करने की गतिविधियों के लिए सुविधा भी प्रदान करते हैं। 

Q-6. National Rural Livelihoods Mission के लिए कौन योग्य है?

Ans:- Deendayal Antyodaya Yojana में NRLM Targeted House (NTH) को BPL की बजाय PIP (गरीब की भागीदारी पहचान)  के माध्यम से पहचाना जाता है। वीआईपी समुदाय संचालित एक प्रक्रिया है, जहां सीबीओ स्वयं Participatory Tools की मदद से गरीबों की पहचान करते हैं। सीपीओ द्वारा पहचान किए गए व्यक्तियों की सूची पर ही ग्राम सभा बल दिया जाता है। 

Q-7. Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana में SHG लीडर का क्या रोल होता है? 

Ans:- SHG लीडर   स्वयं सहायता समूहों  को मोटिवेट करता है तथा अन्य  इंस्टीट्यूशन  जैसे बैंक तथा सहायता समूहों के बीच  लिंक का काम करता है।

Q-8. DAY-NRLM कृषि आधारित आजीविका को किसी प्रकार Support करता है?

Ans:- कृषि आजीविका के क्षेत्र में आजीविका वृद्धि के लिए DAY-NRLM के अंतर्गत महिला किसान सशक्तिकरण योजना नाम से उप योजना की शुरुआत 2010-11 में की गई थी। कृषि के क्षेत्र में महिलाओं की पहचान कर उनकी क्षमताओं को बढ़ाने और क्षेत्र में नीतिगत निवेश कर आय बढ़ाने का एक ठोस प्रयास किया जा रहा है। महिला किसान सशक्तिकरण योजना (MKSP में कृषि और पशुपालन तथा  गैर इमारती लकड़ी का उत्पादन दोनों को शामिल किया गया है। 

Q-9. क्या Deen Dayal Antyodaya Yojana केवल महिलाओं के लिए है?

Ans:-नहीं, यह योजना सबसे गरीब, सबसे कमजोर और समाज के सबसे निचले पायदान पर बैठे व्यक्ति के लिए है। इस योजना की शुरुआत महिलाओं को घर के प्रतिनिधि के तौर पर मानकर  शुरू किया गया था।  यह योजना समाज के अत्यंत कमजोर व्यक्तियों जैसे विकलांग व्यक्ति अथवा बुजुर्ग के संबंध में महिला व पुरुषों दोनों को समान महत्व देती है।

Q-10. Deen Dayal Antyodaya Yojana राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में आजीविका कौशल के अंतर्गत कौन-कौन से ट्रेनिंग और Support उपलब्ध है?

Ans:-  DAY- NRLM के अंतर्गत पहचाने गए युवाओं को आईटी और सॉफ्टवेयर स्किल सहित कई ट्रेडो/ प्रशिक्षण क्षेत्रों में दक्ष किया जाता है।योजना के अंतर्गत युवाओं के प्रशिक्षण और नियुक्ति के बाद आवाज खोजने, बैंक खाता खोलने  तथा जिले के बाहर नियुक्ति होने पर कार्यस्थल पर काउंसलिंग जैसी सहायता प्रदान की जाती हैं। 

Previous articleCESC Kolkata-CESC Online Bill Payment
Next articleElectricity Supply and Distribution Board in India
I am a part-time blogger, Hindi Abhimaan is a platform where people are informed about various schemes launched by the Government of India and various state governments as well as various services being run to make the benefits of these schemes accessible to the general public so that People can have easy access to these services.