Banking Full Forms – Banking Sector किसी भी देश की अर्थव्यवस्था का केन्द्रिय बिन्दू होता है। आजकल अनेक क्षेत्रो के साथ साथ Banking Sectors में भी अक्सर short form यानी Acronyms या Abbreviations किया जाता है। हर व्यक्ति को अक्सर पैसे जमा करने  या निकालने के लिए बैंक या ATM जरूर जाना पडता है। अत: ना केवल वे व्यक्ति, जो Banking Sector में काम करते है, बल्कि हर व्यक्ति के लिए जो पैसे की जमा व निकासी के लिए अक्सर बैक या एटीएम जाता है, को भी Banking Sector की सभी Acronyms की Full Form को जानना अति आवश्यक है।

बैकिंग सैक्टर द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली तमाम Acronyms की Full Form को मैने सुविधा की दृष्टि से Banking Full Forms की श्रेणी में रखा है। Banking Sector सभी प्रकार के वित्तीय लेनदेन जैसे नकदी, क्रेडिट आदि का प्रबंधन करने वाला एक विशेष क्षेत्र है। बैंक अतिरिक्त क्रेडिट रखने के लिए ना केवल ग्राहको को एक सुरक्षित प्रणाली प्रदान करते हैं। बल्की उन्हे नकद जमा प्रमाण पत्र, बचत खाते आदि भी सुविधा भी प्रदान करते हैं। बैंक ग्राहको द्वारा जमा की जाने वाली राशि का उपयोग Loan देने में करते हैं। इन ऋणों में house mortgage, car load and business से सम्बंधित विभिन्न प्रकार के loan शामिल हैं।

ऐसा नही है कि Banking Sector आज ही प्रचलन में है। यह उस समय से मौजूद हैं, जबसे मानव सभ्यता द्वारा व्यापार रूपी व्यवसाय की शुरूआत की थी। बैक की परिभाषा के अनुसार यह एक ऐसी वित्तीय प्रणाली है, जो जमा को स्वीकार करने और उधार देने के लिए अधिकृत है। Commercial नेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, निवेश प्रतिभूतियों के साथ- साथ सोने के सिक्कों की खरीद और बिक्री की सुविधा भी प्रदान करते है। अधिकतर बैंक आजकल विभिन्न बिमा Policies की सुविधा भी प्रदान कर रहे है।

भारत सरकार ने सरकारी योजनाओ का पैसा सीधा गरीबो या योजनाओ से जुडे लोगो के बैंक खाते में पहुँचे इसके लिए जनधन योजना के तहत हर भारतीय का खाता मुफ्त में खोलने की योजना का साकार किया गया है। अब कोई भी ऐसा भारतीय शायद ही आपको मिले जिसके पास अपना खुद का बैंक खाता ना हो। इस योजना के तहत करोडो गरीब लोगो के बैंक खाते खोले गये और इनको आधार कार्ड से Connect किया गया ताकि केन्द्रिय योजनाओ से गरीबो को मिलने वाला उनका हक भ्रष्टाचार की भेट ना चढ़े। भारत सरकार अपने इस प्रयास में लगभग पूर्णरूप से सफल हुआ है। इससे बिचोलियो की समाप्ती हो गयी है।

बैंको के प्रकार –

पिछली 20-30 सालो के सतत् विकास का ही परिणाम है कि आज विभिन्न बैंक और वित्तीय संस्थान हमारे सामने इस रूप में हैं। हम विभिन्न बैंकों को उनके संचालन के तरीके के अनुसार अलग कर सकते हैं, क्योकि आमतौर पर, प्रत्येक बैंक श्रेणी व्यवसाय के एक विशेष रूप पर केंद्रित होती है। मुख्य रूप से सात प्रकार के बैंक वर्चस्व में हैं-  

1. Central bank:

Reserve Bank of India भारत के Central Bank के तौर पर काम करता है। यह सीधे भारत सरकार के अन्तर्गत काम करता है। अर्थात भारत सरकार ही इसके नियंत्रित करती है।  RBI का संचालन के Reserve Bank of India के Governor के द्वारा किया जाता है। जिसकी नियुक्ति भारत सरकार के द्वारा की जाती है। देश में सभी बैंको का संचालन RBI के दिशा निर्देशो अऩुसार ही होता है। 

2. Public Sector bank :

भारत केसार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों( Public Sector Banks) की बात करे, तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के द्वारा 30 अगस्त 2019 को भारत के सरकारी बैंकों की कई श्रृंखलाओं को विलय करने की घोषणा के बाद अब भारत में 12 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक मौजूद हैं। सभी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में सरकार की हिस्सेदारी पचास प्रतिशत से अधिक है। सार्वजनिक क्षेत्र (public sector) और सरकारी बैंकों (government banks) को राष्ट्रीयकृत बैंक (nationalized banks) के रूप में भी जाना जाता है।

3. Private Sector Bank :

प्राईवेट सैक्टर के अन्तर्गत (1) An active foreign bank in India (2) Old- Generation (3) New generation (4) Non-Scheduled (5) Scheduled Co-operative आदि बैक आते है।

4. Development Bank:

किसी क्षेत्र विशेष जैसे बिज़नेस, कृषि, इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट आदि के विकास के लिए कुछ Special Banks की स्थापना की जाती है, उन्हे Development Bank कहा जाता है। इन बैंको की कुछ खास विशेषताएं होती है-

  • साधारण Banks की तरह आम जनता के पैसे Deposit नही करते।
  • ये Bank वाणिज्य बैंको की तरह short term लोन नही देते बल्कि long term लोन देने का काम करते है।
  • ये उन्हे सैक्टर में लोने देते है जिसके विकास के लिए इनकी स्थापना की गयी है।

ये बैंक दो लेवल State Level & District Level पर काम करते है। प्रमुख Devlopment Bank इस प्रकार है

  • IDBI (आईडीबीआई) – Industrial development bank of India
  • UTI (यूटीआई) – Unit trust of India
  • ICICI(आईसीआईसीआई)–  Industrial Credit and Investment Corporation of Indian bank
  • IFCI(आईएफसीआई) – Industrial Finance Corporation of India Ltd.
  • SIDBI(सीडबी) – Small Industrial Development Bank of India
  • NABARD(नाबार्ड) – National bank for Agriculture and Rural Development
  • LDB (एलडीसी)– Land Development Bank.
  • EXIM(एक्जीम) – Export-Import bank of India.
  1. Cooperative Sector Bank :

हिन्दी में इसे सहकारी बैंक के नाम से जाना जाता है। ये बैक ग्रामीण इलाको के विकास को ध्यान में रखकर बनाये गये है। ये बैक सरकारी भागीदारी से चलते है। सरकारी योजनाओ को लागू करने भी ये बैक सहायक होते है।

बैको के प्रमुख कार्य -

  • ग्राहको से पैसा जमा करना
  • लोगों व संस्थाओ को ऋण प्रदान करना
  • ग्राहको को लॉकर की सुविधा प्रदान करना
  • वित्तीय सलाह देना
  • बचत को बढ़ावा देना स्कीमो का संचालन
  • मुद्रा व्यवस्था को लचीला बनाना
  • सरकारी विकास कार्यों में सहयोग करना
  • सरकार की योजनाओ को सफल बनाने में मदद करना

बैंक के लाभ –

  • पूंजी का निर्माण
  • बचत की इच्छा का पैदा होना
  • बैंकिंग प्रणाली का डेवलपमेंट
  • पैसे ट्रांसफर करने में आसानी
  • रोजगार में बढ़ोतरी
  • देश की आर्थिक अर्थव्यवस्था का विकास
  • लोगों के लिए आर्थिक परामर्श

Banking full forms के उदाहरण-

Banking Sector में काम करने वाले ना केवल बहुत से बैंक को नाम बल्की उनके द्वारा कामकाज में भी बहुत से शब्दांश के संक्षिप्त रूप का प्रयोग किया जाता है। जैसे –

  • IFSC – Indian Financial System Code
  • NEFT – National Electronic Funds Transfer
  • HDFC – Housing Development Finance Corporation
  • ATM – Automated Teller Machine
  • RTGC – Real-Time Gross Settlement
  • ICICI – Credit and Investment Corporation of India
  • INR – Indian Rupee
  • RBL – Ratnakar Bank Limited

Banking Full Forms के लाभ -

आजकल बैंकिंग सैक्टर में बैंको के नाम तथा उनके द्वारा प्रयोग में लायी जाने वाली शब्दावली Short Form या Acronyms में होती है। इन Acronyms की Full Forms को Banking Full Forms की Category में रखा जा सकता है। Banking Sector में काम करने वाले लोगो व बैंको से लेने देन करने वाले लोगो को इन Short Form या Acronyms की फुल फॉर्म (Educational Full Forms) का पता अवश्य होना चाहिए।

निष्कर्ष (Conclusion)

Banking Sector किसी भी देश की अर्थव्यवस्था की रिढ़ होती है। Banking सैक्टर ही अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने में अहम रोल अदा करता है। अगर किसी भी देश की बैंकिग प्रणाली मजबूत है, तो माना जाता है कि उसकी अर्थव्यस्था भी ठीक है। बैंकिस सैक्टर के द्वारा ही लोगो को सरलता से व्यापार करने के लिए धन उपलब्ध कराया जाता है। बैंक सरकारी योजनाओ को अमलीजामा पहनाने में भी सरकार की अहम साझीदार होती है।

आज मैं आपको इस पोस्ट में Banking Full Forms वाले Acronyms के बारे बताने जा रहा है। Banking से सम्बंधित Acronyms/Abbreviations की तालिका इस प्रकार है – 

List of Educational Full Forms

AcronymFull Form
ADBAsian Development Bank
ATMAutomated Teller Machine
HDFCHousing Development Finance Corporation
HSBCHong Kong and Shanghai Banking Corporation
ICICICredit and Investment Corporation of India
IDBIIndustrial Development Bank of India
IFSCIndian Financial System Code
INRIndian Rupee
NEFTNational Electronic Funds Transfer
RTGSReal-Time Gross Settlement
RBLRatnakar Bank Limited
PANPermanent Account Number
POProbationary Officer & Post Office
TDSTax Deducted at Source
ECSElectronic Clearing Service
ESIEmployees' State Insurance
IRDAEmployees' State Insurance
SEBISecurities and Exchange Board of India
SIDBISmall Industries Development Bank of India
SLRSingle Lens Reflex & Statutory Liquidity Ratio
UCOUnited Commercial Bank

IFSC Code Full Form

Add a strong one liner supporting the heading above and giving users a reason to click on the button below 

Read More

NEFT Full Form

Add a strong one liner supporting the heading above and giving users a reason to click on the button below 

Read More

मुझे ना केवल यकीन बल्कि पूरा विश्वास है कि आपको मेरा उपरोक्त लेख “Banking Full Forms” अवश्य पंसद आया होगा। मेरी कोशिश  है कि मैं आप लोगो को हिन्दी भाषा में उचित जानकारी प्रदान करू। उसी को अपना ध्येय मानकर  “Banking Full Forms” विषय पर गहन अध्ययन करके यह लेख लिखा है।

मुझे विश्वास है कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपको अपनी Query के लिए किसी अन्य लेख को पढ़ने की आवश्यकता नही होगी। फिर भी, अगर आपका इस पोस्ट के सम्बंध में कोई सवाल है, तो मुझे Comments में लिखे। मैं उसका समाधान जरूर करूँगां। आपके comments का इंतजार रहेगा। अगर पंसद आये और लाभप्रद लगे तो इसे अपने दोस्तो, रिश्तेदारो को Social  Platform  Facebook, Twitter के साथ साथ अन्य दूसरे Social Networks site पर share करे।

Spread the love

Leave a Reply

Banking Full Forms of Acronyms