Aadhaar Enabled Payment System

310

आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम क्या है और यह कैसे काम करता है? |Aadhaar Enabled Payment System (AePS)

Aadhaar Enabled Payment System (AePS) – आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम-  एईपीएस) भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया-  एनपीसीआई) द्वारा विकसित की गई ऐसी प्रणाली है, जिसके माध्यम से लोग माइक्रो एटीएम की मदद से केवल अपनी आधार संख्या  का उपयोग कर फिंगरप्रिंट की मदद से सत्यापन कर वित्तीय लेनदेन (शेष राशि पूछताछ, नकद जमा, नकद निकासी, प्रेषण) कर सकते हैं। अर्थात यह एक ऐसी प्रणाली है, जो फिंगरप्रिंट के माध्यम से आधार सत्यापन कर वित्तीय लेनदेन की अनुमति देती है।

आधार सक्षम भुगतान प्रणाली के अंतर्गत लोगों को वित्तीय लेनदेन करने के लिए अपने बैंक खाते का विवरण  उपलब्ध कराने की जरूरत नहीं है।आधार सक्षम भुगतान प्रणाली का उपयोग कर कोई भी  व्यक्ति आधार नंबर का उपयोग करते हुए एक बैंक से दूसरे बैंक में धनराशि को भेज सकता है। इस प्रणाली के माध्यम से व्यक्ति अपने खाते से किसी भी खाते में पैसे भेज सकता है,चाहे उसका खाता पैसे भेजने वाले बैंक में हो अथवा नहीं।  क्योंकि यह सिस्टम एक केंद्रीकृत सर्वर पर काम करता है 

आधार सक्षम भुगतान प्रणाली के अंतर्गत वित्तीय लेनदेन को अधिकृत करने के लिए खाता धारक के बैक विवरण के स्थान पर उंगलियों के निशान की आवश्यकता होती है, जो वित्तीय लेनदेन में सुरक्षा को पुख्ता करता है। अर्थात यह प्रणाली वित्तीय लेनदेन की एक सुरक्षित प्रणाली है। 

Aadhaar Enabled Payment System  फंड ट्रांसफर लिमिट क्या है?

भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया Aadhaar Enabled Payment System (AePS) के माध्यम से  ट्रांसफर करने की अभी तक कोई सीमा निर्धारित नहीं की है,  जबकि विभिन्न बैंकों ने भुगतान प्रणाली के दुरुपयोग को कम करने के लिए एईपीएस के माध्यम से किए जाने वाले वित्तीय लेनदेन को सीमित करते हुए अधिकतम ₹50000 की दैनिक सीमा निर्धारित की है। 

Aadhaar Enabled Payment System (AePS) के माध्यम से किन सेवाओं का लाभ प्राप्त किया जा सकता है?

Aadhaar-Enabled-Payment-System-AePS

Aadhaar Enabled Payment System (AePS) के माध्यम से निम्नलिखित सेवाओं का लाभ प्राप्त किया जा सकता है-

  • पैसे की नगद निकासी।
  • नगद पैसे जमा करना।
  • बैंक खाते में शेष राशि का पता करना।
  • एक आधार नंबर से दूसरे आधार नंबर में पैसे ट्रांसफर करना। (B2C & G2C लेन-देन)
  •  बैंक खाते का मिनी स्टेटमेंट प्राप्त करना।
  • E -KYC-सर्वश्रेष्ठ फिंगर डिटेक्शन/ आयरिश डिटेक्शन 
  • BHIM आधार Pay 
  • ऑथेंटिकेशन 
  •  टोकनाइजेशन
  • आधार सीडिंग स्टेटस 

Virtual Court (VCourts) पर चालान कैसे भरे?

Aadhaar Enabled Payment System (AePS) के लाभ

आधार इनेबल्ड भुगतान प्रणाली (Aadhaar Enabled Payment System-AePS) के बहुत सारे लाभ हैं जिनमें से कुछ लाभ इस प्रकार हैं-

  • बैंकिंग कॉरस्पॉडेंट के माध्यम से बैंकिंग तथा गैर बैंकिंग वित्तीय लेनदेन किया जा सकता है।
  • इस प्रणाली में वित्तीय  लेनदेन के लिए ग्राहक को दे बीट कारण/ कार ट्रेड प्रस्तुत करने की जरूरत नहीं है।
  • आधार इनेबल्ड भुगतान प्रणाली के अंतर्गत एक  बैंक के कॉरेस्पोंडेंस  अपने बैंक के साथ-साथ दूसरे बैंक के लेनदेन भी कर सकते हैं।
  • यह भुगतान प्रणाली बायोमेट्रिक सत्यापन के कारण वित्तीय लेनदेन को सुरक्षित बनाती है।
  • आधार आधारित भुगतान प्रणाली का उपयोग कर माइक्रो पीओएस मशीनों के माध्यम से दूरदराज के गांवों में वित्तीय लेनदेन की सुविधा आसानी से उपलब्ध कराई जा सकती है।
  • AePS वित्तीय लेनदेन प्रणाली का उपयोग कर  बैंकों के वर्क लोड को कम  करने के साथ-साथ लोगों का समय व पैसा बचाया जा सकता है। 
  • इस प्रणाली के माध्यम से सभी बैंकों के खाताधारक आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से अपने बैंकों तक पहुंच प्राप्त कर सकते हैं।
  • ग्राहक को बैंक  अथवा  एटीएम की लंबी-लंबी लाइनों में लगने की आवश्यकता नहीं है।
  • Aadhaar Enabled Payment System (AePS) आधार आधारित प्रमाणीकरण का उपयोग  केंद्र तथा राज्य सरकार के निकायों द्वारा नरेगा, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, विकलांग पेंशन, वृद्धावस्था पेंशन आदि योजनाओं में किया जा रहा है। 

Aadhaar Enabled Payment System (AePS) का उपयोग कैसे करें?

आधार  सक्षम भुगतान प्रणाली का उपयोग करना काफी सरल है।  इस प्रणाली के माध्यम से वित्तीय लेनदेन करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें-

  • सबसे पहले अपने एरिया के नजदीकी बैंकिंग संवाददाता (Banking Correspondent) के पास जाएं।  
  • यह जरूरी नहीं है कि आपका बैंक खाता जिस बैंक में है, उससे संबंधित बैंकिंग संवाददाता ही हो। आधार सेक्शन भुगतान प्रणाली के माध्यम से आप किसी भी बैंकिंग संवाददाता के माध्यम से वित्तीय लेनदेन कर सकते हैं।
  • बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंस द्वारा उपलब्ध कराई गई पी ओ एस (PoS-Point of Sale)  मशीन में अपना 12 अंको का आधार नंबर दर्ज करें।
  • नकद जमा, निकासी, फंड ट्रांसफर, मिनी स्टेटमेंट, बैलेंस पूछताछ अथवा e-KYC   आदि में से लेन-देन के किसी एक प्रकार का चयन करें।
  • जिस बैंक में आपका बैंक खाता है उसके नाम का दी गई सूची से चयन करें।
  • अपनी सुविधा अनुसार लेनदेन के लिए  राशि  दर्ज करें।
  • बायोमेट्रिक पैरामीटर  जैसे फिंगरप्रिंट या आइरिश स्कैन आदि  का उपयोग कर लेनदेन की प्रक्रिया को प्रमाणित करें।
  • बायोमेट्रिक सत्यापन होते ही वित्तीय लेनदेन की प्रक्रिया कुछ सेकेंड में पूरी हो जाएगी।
  •  बैंकिंग संवादाता द्वारा आपको वित्तीय लेनदेन से संबंधित रसीद प्रदान की जाएगी।
  • इस प्रकार कोई भी व्यक्ति केवल आधार नंबर तथा फिंगरप्रिंट के माध्यम से Aadhaar Enabled Payment System का उपयोग कर कुछ ही सेकंड में वित्तीय लेनदेन की प्रक्रिया पूरी कर सकता है।

Aadhaar Enabled Payment System (AePS) काम कैसे करता है?

आधार सक्षम वित्तीय प्रणाली मशीन (AePS Machine) पॉइंट ऑफ सेल मशीन (PoS Machine) की तरह काम करती है। वित्तीय लेनदेन की  इस प्रणाली में  डेबिट/ क्रेडिट कार्ड पिन के बजाय ग्राहक के आधार नंबर को दर्ज करने की आवश्यकता होती है तथा  भुगतान प्रक्रिया को प्रमाणित करने के लिए बायोमैट्रिक डाटा ( उंगलियों के निशान अथवा  आंखों के रेटिना)  को स्कैन करने की आवश्यकता होती है। एईपीएस के माध्यम से वित्तीय लेनदेन की प्रक्रिया में बैंक की जारीकर्ता पहचान संख्या (IIN) या नाम, आधार संख्या तथा अंगुली की छाप की आवश्यकता होती है।

वाहन समन्वय मोबाइल एप्लीकेशन क्या है?

Aadhaar Enabled Payment System (AePS) से लेनदेन के समय ध्यान रखने योग्य बातें?

आधार सक्षम वित्तीय प्रणाली  के माध्यम से वित्तीय लेनदेन करते समय  किसी भी प्रकार के फ्रॉड से बचने के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना आवश्यक है-

  • इस प्रणाली के माध्यम से वित्तीय लेनदेन करने से पहले आपका आधार नंबर  बैंक अकाउंट से लिंक होना आवश्यक है।
  • अगर बैंक में आपके एक से अधिक खाते हैं तो वित्तीय लेनदेन के लिए केवल प्राथमिक खाते का उपयोग किया जाएगा।
  • Aadhaar Enabled Payment System (AePS) के माध्यम से लेनदेन करने के लिए किसी प्रकार के वन टाइम पासवर्ड तथा PIN की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • AePS केवल आधार  नंबर से जुड़े बैंक खातों के वित्तीय लेनदेन को ही स्वीकृत करता है।
  • आधार सक्षम वित्तीय प्रणाली का लाभ प्राप्त करने के लिए कई बैंकों को आधार से लिंक किया जा सकता है।
  • लेकिन  इस प्रणाली के माध्यम से वित्तीय लेनदेन का लाभ उठाने के लिए एक बैंक से केवल एक खाते का ही उपयोग किया जा सकता है।
  • इस प्रणाली के माध्यम से किए गए सभी वित्तीय लेनदेन का  कटओवर (Cutover) प्रतिदिन 11 PM  पर होता है।  पूरे दिन में किए गए तमाम भुगतान को इस सेटलमेंट में शामिल किया जाता है। 

भारत सरकार ने Aadhaar Enabled Payment System (AePS)  को लॉन्च क्यों किया है?

भारत सरकार में देश के सभी नागरिकों को बैंकिंग ढांचे के अंतर्गत लाने का लक्ष्य रखा है जिसकी पूर्ति के लिए सभी दूर-दराज के गांव में बैंक शाखाएं खोलना संभव नहीं है अतः भारत सरकार  Aadhaar Enabled Payment System (AePS)  लेकर आई है। इस प्रणाली का उपयोग कर प्रत्येक नागरिक जो दूर दराज के इलाकों में रहता है, आसानी से माइक्रो एटीएम और बैंकिंग संवाददाताओं की मदद से पैसे भेज/ प्राप्त करने के साथ-साथ अन्य वित्तीय और गैर वित्तीय बैंकिंग सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकता है।

Aadhaar Enabled Payment System (AePS) को शुरू करने के पीछे दूसरा मुख्य उद्देश्य  दिनों दिन बढ़ रहे फ्रॉड  पर अंकुश लगाना है।  अन्य वित्तीय लेनदेन की प्रणालियों की तुलना में आधार सक्षम वित्तीय प्रणाली वित्तीय लेनदेन का एक सुरक्षित माध्यम है, क्योंकि इसका सत्यापन बायोमेट्रिक के माध्यम से होता है। इस प्रणाली के माध्यम से भुगतान करने के लिए बैंक की पासबुक अथवा डेबिट कार्ड की आवश्यकता नहीं है केवल आधार नंबर  तथा उंगलियों के निशान की ही आवश्यकता होती है।  जिसके कारण सभी लोगों के लिए इस सेवा का उपयोग करना आसान होता है। 

FAQs Related to Aadhaar Enabled Payment System (AePS)

Q-1. क्या AePS  के माध्यम से वित्तीय लेनदेन करना सुरक्षित है?

उत्तर- हाँ, Aadhaar Enabled Payment System (AePS) नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा विकसित एक सुरक्षित प्रणाली है क्योंकि इस प्रणाली में उंगलियों के निशान/ आयरिश स्कैन के माध्यम से बायोमेट्रिक सत्यापन द्वारा भुगतान को प्रमाणित किया जाता है। उंगलियों के निशान/ आयरिश को जाली तरीके से बनाया जाना  बहुत कठिन है। AePS वित्तीय लेनदेन प्रणाली सुरक्षित है।

Q-2. AePS  का उपयोग कौन कर सकता है?

उत्तर- आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (Aadhaar Enabled Payment System -AePS) का उपयोग  आधार कार्ड रखने वाले किसी भी भारतीय नागरिक के द्वारा किया जा सकता है।  लेकिन उपयोगकर्ता के लिए आवश्यक है कि उसका आधार कार्ड बैंक अकाउंट से लिंक हो।

Q-3. AePS का उपयोग करने के लिए उपभोक्ता के पास किस प्रकार का अकाउंट होना आवश्यक है?

उत्तर- Aadhaar Enabled Payment System (AePS) का उपयोग करने के लिए उपयोगकर्ता के पास आधार कार्ड से जुड़ा हुआ बैंक अकाउंट होना आवश्यक है। वह बैक जिसमें आपका खाता है, NFS Network का Member/Sub Member होना चाहिए तथा नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा AePS  सुविधा युक्त हो। 

Q-4. Bhim Aadhar Pay क्या है?

उत्तर- Bhim Aadhar Pay ऐसी प्रणाली है, जो व्यापारियों को आधार आधारित प्रमाणीकरण के माध्यम से ग्राहकों से डिजिटल भुगतान प्राप्त करने की अनुमति देती है।  उपभोक्ता BHIM Aadhaar Pay सेवा करो किसी भी अधिकृत करने वाले बैंक के माध्यम से भुगतान प्राप्त कर सकते हैं।  जिसके लिए व्यापारी के पास भीम आधार एप के साथ एक प्रमाणित बायोमेट्रिक स्कैनर तथा एंड्राइड मोबाइल होना आवश्यक है।

Read Also : – परिवहन ई चालान का ऑनलाइन भुगतान कैसे करे?

Previous articleUP Ration Card online Services in 2021
Next articleAIMS Portal Railway
I am a part-time blogger, Hindi Abhimaan is a platform where people are informed about various schemes launched by the Government of India and various state governments as well as various services being run to make the benefits of these schemes accessible to the general public so that People can have easy access to these services.